- विज्ञापन -
Homeधर्मAnang Trayodashi 2022: प्रेमी युगल के लिए बेहद महत्वपूर्ण है अनंग त्रयोदशी...

Anang Trayodashi 2022: प्रेमी युगल के लिए बेहद महत्वपूर्ण है अनंग त्रयोदशी व्रत, जानिए शुभ तिथि और महत्त्व

- Advertisement -spot_img

Anang Trayodashi 2022: इस बार अनंग त्रयोदशी का व्रत 5 दिसंबर को किया जाएगा। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार मार्गशीर्ष मास के शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि को अनंग त्रयोदशी कहते हैं भगवान शिव का पूजन करने से भक्तों पर कृपा बनी रहती है। इस व्रत में भगवान शिव पार्वती तथा कामदेव रति का पूजन किया जाता है। यह दिन प्रेमी जोड़ों के लिए बहुत खास माना गया है क्योंकि इस दिन को व्रत रखने से लव लाइफ बेहतर होने के साथ-साथ संतान प्राप्ति का भी वरदान देने वाला व्रत माना गया है। अनंत चतुर्दशी के दिन प्रदोष व्रत भी होता है। इस व्रत की शुभ तिथि और महत्व के बारे में बताया गया है।

अनंत त्रयोदशी व्रत की तिथि

अनंत त्रयोदशी व्रत की तिथि हिंदू पंचांग के अनुसार इस बार अंग प्रदर्शन का व्रत 5 दिसंबर को सुबह 5:57 पर शुरू होगा और अगले दिन 6 दिसंबर को सुबह 6:47 तक रहेगा। इस तरह यह व्रत 5 दिसंबर सोमवार के दिन रखा जाएगा।

Also Read- CM KEJRIWAL से महिला ने पूछा अतरंगी सवाल, कहा- ‘कहां है आपका मफलर’, देखें VIDEO

अनंत चतुर्दशी व्रत का महत्व और कथा

तिरुपति के ज्योतिषाचार्य डॉ कृष्ण कुमार ने इसके महत्व के बारे में बताया है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार व्रत के दिन भगवान शिव और पार्वती के साथ कामदेव और रति की पूजा करने से प्रेम संबंध मजबूत होता है। इस व्रत के दिन प्रेमी युगल और विवाहित दंपतियों को व्रत और पूजा पाठ करना चाहिए। एक बार जब भगवान शिव सती वियोग से दुखी होकर ध्यान मग्न हो गए थे और तीनों लोकों में राक्षस तारकासुर का अत्याचार बढ़ गया था, तब देवताओं ने शिवजी का ध्यान भंग करने के लिए कामदेव और रति की सहायता ली थी।

Also Read- TORK KRATOS ELECTRIC MOTORCYCLE: 120 KM की रेंज के साथ गर्दा उड़ा रही ये बाइक, ये धांसू फीचर किसी और में नहीं

कामदेव और रति ने शिवजी का ध्यान भंग किया। इस वजह से शिव जी ने नाराज होकर अपने तीसरे नेत्र की अग्नि से कामदेव को भस्म कर दिया। यह सब देखकर रति विलाप करने लगी और फिर देवताओं ने शिवजी को सारा वृत्तांत बताया। जब शिव जी का क्रोध कम हुआ तो उन्होंने रती से कहा कि कामदेव इस समय अनंत है। यानी वह बिना अंगों वाले और बिना शरीर के हैं। इसी वजह से भगवान कामदेव को अनंग के नाम से जाना जाता है।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img

Stay Connected

[td_block_social_counter facebook="#" manual_count_facebook="16985" manual_count_twitter="2458" twitter="#" youtube="#" manual_count_youtube="61453" style="style3 td-social-colored" f_counters_font_family="450" f_network_font_family="450" f_network_font_weight="700" f_btn_font_family="450" f_btn_font_weight="700" tdc_css="eyJhbGwiOnsibWFyZ2luLWJvdHRvbSI6IjMwIiwiZGlzcGxheSI6IiJ9fQ=="]

Must Read

- Advertisement -spot_img

Related News

- Advertisement -spot_img