- विज्ञापन -

Latest Posts

Krishna Rukmini Katha: क्यों बिछड़े थे विवाह के बाद श्री कृष्ण और रुक्मणि, जानें पौराणिक कथा

Krishna Rukmini Katha: भगवान श्री कृष्ण प्रेम, त्याग और समर्पण के मूरत हैं। ये बातें तो आप बचपन से सुनते आ रहे होंगे। राधा और कृष्ण प्रेम के लिए पूरे विश्व में प्रचलित हैं। प्रेम के साथ साथ त्याग के लिए हमेशा इनके नाम को लिया जाता है। मगर क्या आप जानते हैं की विवाह के बंधन में भगवान श्री कृष्ण और रुक्मणी बंधी थी। लेकिन इन्हें विवाह के बाद ही पूरे 12 साल के लिए अलग रहना पड़ा था। इसके पीछे भी कई पौराणिक कथाएं प्रचलित हैं। इसके विषय में विस्तार से हम इस आर्टिकल में जानेंगे।

ऋषि दुर्वासा का मिला था श्राप

पौराणिक कथाओं के अनुसार भगवान श्री कृष्ण और रुकमणी को अलग रहना का श्राप मिला था। इसके पीछे का कारण बेहद रोचक है। आपको बता दें, एक बार की बात है जब भगवान श्री कृष्ण और रुक्मणी एक साथ ऋषि दुर्वासा के आश्रम गए थे। तब भगवान श्री कृष्ण ऋषि दुर्वासा को भोजन ग्रहण करने और आशीर्वाद बनाए रखने के लिए आमंत्रित किए। इस निमंत्रण को स्वीकार करते हुए ऋषि दुर्वासा ने एक शर्त रखा। उन्होंने कहा कि एक अलग रथ की व्यवस्था मेरे लिए की जाए। इस शर्त को भगवान श्री कृष्ण स्वीकार किए।

Also Read- Jama Masjid: जामा मस्जिद में लड़कियों की एंट्री को लेकर हुआ बवाल, मस्जिद के इमाम बोले -‘इबादत की जगह दोस्तों का इंतजार हो रहा है’

रथ में खुद जुट गए श्री कृष्ण और रुक्मणी

आपको बता दें, एक ही रथ होने के कारण घोड़े के जगह भगवान श्री कृष्ण और रुक्मणी खुद जुट गया और रथ को खींचने लगे। इस दौरान रुकमणी को बेहद प्यास लगी लेकिन रास्ते में कहीं पानी की व्यवस्था नहीं थी। इसलिए श्री कृष्ण स्वयं जमीन पर अंगूठा लगाए और इससे गंगाजल निकलने लगा। इसके बाद इस गंगाजल को भगवान श्री कृष्ण और रुक्मणी ग्रहण किए। मगर इनसे एक बड़ी गलती हो गई। ये ऋषि से जल के लिए पूछना भूल गए। इस बात पर ऋषि दुर्वासा रुष्ट हो गए और भगवान श्री कृष्ण और रुक्मणी को 12 साल तक अलग रहने के लिए श्राप दे दिए। इसलिए भगवान श्री कृष्ण और रुक्मणी को 12 साल तक अलग रहना पड़ा। इस दौरान रुकमणी श्री हरि विष्णु के आराधना में लीन हो गई। इस तपस्या से प्रसन्न होकर भगवान रुक्मणी को श्राप से मुक्त कर दिए।

Also Read: MP News: आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर CM शिवराज की चिंता हुई दूर, PM मोदी एक तीर से साधेंगे कई निशाने

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Latest Posts

देश

बिज़नेस

टेक

ऑटो

खेल