- विज्ञापन -

Latest Posts

Mahakal Mandir में महिलाएं 10 मिनट के लिए क्यों नहीं कर सकती बाबा के दर्शन, जानें इसके पीछे का रहस्य

Mahakal Mandir: मध्य प्रदेश के उज्जैन में स्थित महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर बेहद प्रसिद्ध है। इस मंदिर के दर्शन के लिए देश एवं विदेशों से भी लोग आते हैं। इस मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर किसी भी प्रकार का रोक नहीं लगाया गया है। मगर आपको पता है? महिलाएं 10 मिनट के लिए बाबा के दर्शन नहीं कर सकती हैं। इसके पीछे एक गहरा रहस्य छिपा हुआ है। जिसे जानना आप सभी के लिए बेहद रोचक होगा। तो आइए जानते हैं, क्या है रहस्य।

क्या है इस मंदिर का रहस्य

इस मंदिर के पुजारी का कहना है कि यहां पर महादेव का महाकाल रूप है। यहां पर महादेव अपने महाकाल रूप से भगवान शंकर रूप में प्रवेश करते हैं। इस दौरान भगवान को भस्म चढ़ाया जाता है। ये महादेव का अभ्यंग स्नान होता है। इस रूप के दर्शन महिलाएं नहीं कर सकती हैं। इसलिए महिलाओं को कुछ मिनटों तक भगवान के दर्शन की अनुमति नहीं दी जाती है।

ये भी पढ़ें: Swapna Shastra: सपने में खुद को रोते हुए देखने क्या है मतलब, जरूर जानें

यहां चढ़ता है सिर्फ भस्म

पूरे देश में महादेव के 12 ज्योतिर्लिंग हैं। इसमें महाकालेश्वर तीसरे स्थान पर है। इस मंदिर में प्रतिदिन महादेव को भस्म चढ़ाया जाता है। यहां पर रोज सुबह पहली आरती भस्म की होती है। वहीं रोज सुबह 4 बजे से रात 11 बजे तक भगवान का पट दर्शन के लिए खुला रहता है। इस बीच सिर्फ 10 मिनट के लिए महिलाओं को दर्शन करने की अनुमति नहीं दी जाती है।

इन चीजों से बनाई जाती है भस्म

उज्जैन में प्रतिदिन भस्म से महाकाल की आरती की जाती है। इसमें खास तरह के भस्म का प्रयोग किया जाता है। जिसमें पीपल, अमलतास, पलाश, शमी, बड़ और बैर के पेड़ की लकड़ियों को जलाकर भस्म बनाया जाता है। इस भस्म को बनाते वक्त सिद्ध मंत्रों का उच्चारण किया जाता है। इसके बाद इसके कपड़े से छान कर तैयार करते हैं। फिर बाबा का शृंगार करते हैं।

ये भी पढ़ें: Astrology: अगर आपके हाथ में भी है ये रेखा तो बदलने वाली है आपकी भी किस्मत   

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं

Latest Posts

देश

बिज़नेस

टेक

ऑटो

खेल