Delhi Ram Leela 2022: उपराज्यपाल ने इस बड़े नियम को किया खत्म, दिल्ली में रामलीला आयोजकों को मिली राहत

Date:

Delhi Ram Leela 2022: सावन का महीना खत्म होने वाला है, ऐसे में अगले कुछ महीनों में देशभर में दशहरे से पहले रामलीला का आयोजन किया जाता है। इसी कड़ी में राजधानी दिल्ली से एक बड़ी जानकारी सामने आ रही है। आपको बता दें कि दिल्ली में हर साल आयोजित होने वाली रामलीला को लेकर एक खुशखबरी आई है।

दरअसल, दिल्ली के उपराज्यपाल विनय कुमार सक्सेना ने बीते दिन दिल्ली रामलीला कमेटी के साथ मुलाकात की। उपराज्यपाल ने इस बैठक में रामलीला कमिटियों के लिए 5 लाख रुपये की सिक्योरिटी जमा करने के नियम को खत्म कर दिया। साथ ही उपराज्यपाल सक्सेना ने रामलीला के आयोजन के दौरान मैदान में खाना बनाने की इजाजत भी दे दी।

ये भी पढ़ें: Sushma Swaraj Death Anniversary: सीएम शिवराज ने सुषमा स्वराज को पुण्यतिथि पर किया याद, कई ट्वीट कर दी विनम्र श्रद्धांजलि

बैठक में ये लोग हुए शामिल

गौरतलब है कि उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने रामलीला महासंघ के प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की, जिसमें की महासंघ के अध्यक्ष अर्जुन कुमार, सांसद प्रवेश वर्मा, दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष आदेश गुप्ता भी मौजूद रहे। महासंघ के अध्यक्ष अर्जुन कुमार ने बताया कि बैठक करीब 50 मिनट तक चली और इसमें डीडीए, एमसीडी, पीडब्ल्यूडी और दिल्ली पुलिस के आला अधिकारी भी मौजूद रहे।

इस बैठक के दौरान रामलीला महासंघ ने दिल्ली में रामलीला के आयोजन के दौरान होने वाली समस्याओं को उपराज्यपाल के सामने रखा, जिसमें की रामलीला के आयोजन के दौरान जमा किए जाने वाले सिक्योरिटी शुल्क और रामलीला ग्राउंड में खाना ना बनाने वाले नियम को लेकर भी अपनी समस्या बताई।

रामलीला के आयोजको को मिली राहत

आपको बता दें कि दिल्ली में हर साल 650 से अधिक रामलीलाएं होती है। ऐसे में डीडीए की ओर से रामलीला के आयोजन के दौरान ईटीपी प्लांट लगाने की अनिवार्यता रखी थी। इसमें कहा गया था कि किसी भी रामलीला के आयोजन के दौरान खाना बनाते वक्त गंदगी फैलाता है तो उसके लिए ईटीपी प्लांट लगाना अनिवार्य होगा। उपराज्यपाल ने इस बैठक में दिल्ली की 650 से अधिक रामलीलाओं को रियायत देते हुए इस नियम को भी खत्म कर दिया। अब रामलीला के आयोजन के दौरान ईटीपी प्लांट लगाना अनिवार्य नहीं होगा।

डीडीए ने भी दी बड़ी राहत

वहीं, दिल्ली विकास प्राधिकरण डीडीए ने इस बैठक के बाद सिक्योरिटी की रकम को 66 रुपये प्रति वर्ग मीटर से घटाकर 15 रुपये प्रति वर्ग मीटर कर दिया। इसके साथ ही सफाई शुल्क को भी घटाकर 2 रुपये से 75 पैसे प्रति वर्ग मीटर कर दिया है। इसके साथ ही दिल्ली में रामलीला के आयोजन के दौरान बिजली,पानी, मैदान पर सुरक्षा और मैदान पर सफाई के लिए एक सिंगल विंडो की शुरुआत की जाएगी। इस फैसले से रामलीला आयोजकों का काफी वक्त बचेगा और उन्हें इधर-उधर के अधिक चक्कर भी नहीं लगाने पडे़गे।

ये भी पढ़ें: 7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों का खत्म हुआ इंतजार, सरकार ने महंगाई भत्ते में की इतनी बढ़ोतरी

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो पर सकते हैं।

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related