Homeदेश & राज्यदिल्ली की हवा में सुधार, सरकार ने निर्माण कार्य को दी छूट,...

दिल्ली की हवा में सुधार, सरकार ने निर्माण कार्य को दी छूट, सवालों के घेरे में सरकार

प्रदूषण की मार झेल रहे दिल्लीवासियों को अब इससे थोड़ी राहत मिली है। दिल्ली एनसीआर की हवा में थोड़ी सुधार देखी गई है। इसके तुरंत बाद ही दिल्ली सरकार ने निर्माण कार्य को छूट दे दी है बता दें कि दिल्ली में भयानक प्रदूषण और दमघोटू हवा की वजह से 1 हफ्ते से सभी निर्माण कार्य पर रोक लगाई गई थी।इसका मकसद प्रदूषण के स्तर को नियंत्रण करना था।

सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली सरकार से प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए हर मुमकिन कोशिश करने की बात कही थी। जिसके बाद सरकार ने निर्माण कार्य पर रोक लगा दी थी। इसके साथ ही स्कूलों को भी बंद कर दिया गया था और गैर जरूरी सामानों को लाने वाले ट्रकों की राजधानी दिल्ली में प्रवेश पर भी पाबंदी लगाई गई थी।

हालांकि air quality index में सुधार के बाद ही निर्माण कार्य को छूट दे दी गई है इस पर अब सवाल उठने लगे हैं। इसपर दिल्ली सरकार का तर्क है कि कंस्ट्रक्शन वर्क को छूट देने का सबसे प्रमुख कारण मजदूर है जिनके सामने रोजगार संकट आ जाएगा। सरकार ने कहा है कि अगर कंस्ट्रक्शन वर्क को ज्यादा वक्त के लिए रोक दिया गया तो दिल्ली में मजदूरों के लिए रोजगार का संकट खड़ा हो जाएगा। दूसरी सबसे बड़ी वजह सीईसी रिपोर्ट है, जिसमें कहा गया है कि दिल्ली में 31 फ़ीसदी प्रदूषण आंतरिक कारणों से जबकि 69 प्रदूषण सटे हुए दूसरे राज्यों की वजह से होती है।जिसमें पराली जलाना एक बड़ी वजह है।

रिपोर्ट के मुताबिक 31 फ़ीसदी जो प्रदूषण दिल्ली में फैलता है उसमें आधे से ज्यादा दिल्ली की सड़कों पर रोजाना दौड़ने वाली गाड़ियों और टू व्हीलर से निकलने वाले धुएं की वजह से होता है। सरकार की तरफ से कहा गया है कि इसी वजह से सरकारी दफ्तरों में काम करने वाले लोगों को अभी वर्क फ्रॉम होम करने की इजाजत दी गई है।ताकि सड़कों पर कम से कम गाड़ियां निकले। इसके अलावा यह भी कहा गया है कि सिर्फ चार से पांच फीसदी प्रदूषण ही निर्माण कार्यों से होता है। इसलिए इसकी इजाजत दे दी गई है।

वहीं दिल्ली सरकार के मंत्री गोपाल राय ने कहा है कि दिल्ली की तमाम सिग्नल्स पर दिल्ली सरकार की तरफ से चलाया जाने वाला अभियान रेड लाइट ऑन गाड़ी ऑफ जारी रहेगा। गोपाल राय के मुताबिक दिल्ली में पिछले 2 दिनों से तेज हवा चल रही है और इसकी रफ्तार 20 से 25 किलोमीटर प्रति घंटे की है। इससे प्रदूषण के स्तर में काफी सुधार आया है। उन्होंने कहा, अगले दो दिन बाद दिल्ली सरकार एक बार फिर रिव्यू मीटिंग करेगी और देखेगी कि क्या वाकई हवा की गुणवत्ता बेहतर होती है. अगर ऐसा होता है तो स्कूल खोल दिए जाएंगे और सीएनजी से चलने वाले ट्रकों को भी दिल्ली में प्रवेश की इजाजत मिल जाएगी।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें।आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो पर सकते हैं

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest पोस्ट

Related News

- Advertisement -