Homeदेश & राज्यमौसम और जलवायु अनुसंधान एवं विकास के लिए 2000 करोड़ देगी भारत...

मौसम और जलवायु अनुसंधान एवं विकास के लिए 2000 करोड़ देगी भारत सरकार, ACROSS के प्रस्ताव को मिली मंजूरी

भारत सरकार मौसम और जलवायु अनुसंधान एवं विकास के लिए ₹2000 करोड़ से अधिक का अनुदान देगी।  बुधवार को सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए अम्ब्रेला योजना को जारी रखने की मंजूरी दी है। जिसमें जिसमें अगले वित्तीय चक्र (2021-2026) में मौसम और जलवायु सेवाओं

भारत सरकार मौसम और जलवायु अनुसंधान एवं विकास के लिए ₹2000 करोड़ से अधिक का अनुदान देगी।  बुधवार को सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए अम्ब्रेला योजना को जारी रखने की मंजूरी दी है। जिसमें जिसमें अगले वित्तीय चक्र (2021-2026) में मौसम और जलवायु सेवाओं, बेहतर पूर्वानुमान और बेहतर प्रारंभिक चेतावनियों में अनुसंधान एवं विकास के लिए 2,135 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने ACROSS के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।

प्रस्ताव को मिली मंजूरी

यह योजना बेहतर मौसम, जलवायु, समुद्री पूर्वानुमान और सेवाएं और अन्य खतरे से संबंधित सेवाएं प्रदान करेगी, जिससे पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के एक आदेश के अनुसार अंतिम उपयोगकर्ताओं को समान लाभ का हस्तांतरण सुनिश्चित होगा। यह योजना मंत्रालय द्वारा अपनी वैज्ञानिक एजेंसियों-भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD), राष्ट्रीय मध्यम दूरी के मौसम पूर्वानुमान केंद्र (NCMRWF), भारतीय उष्णकटिबंधीय मौसम विज्ञान संस्थान (IITM), भारतीय राष्ट्रीय केंद्र के और महासागर सूचना सेवाओं (INCOIS) के  माध्यम से कार्यान्वित की जा रही है। इससे वैश्विक जलवायु परिवर्तन को सही मापने और भविष्य के लिए रणनीति तय करने में मदद मिलगी।

यह भी पढ़े: किसान भाइयों के लिए खुशखबरी, बैंक खाते में जल्द आने वाला है इतना पैसा

 कैबिनेट द्वारा जारी विज्ञप्ति में ACROSS के लिए कार्यान्वयन रणनीति और लक्ष्य बताते हुए कहा गया है कि मौसम और जलवायु के सभी पहलुओं को कवर करने के लिए आईएमडी, आईआईटीएम, एनसीएमआरडब्ल्यूएफ और आईएनसीओआईएस के माध्यम से एकीकृत तरीके से कार्यान्वित की जाएंगी। प्रत्येक संस्थान के लिए एक अहम  भूमिका है।  आठ योजनाओं के माध्यम से निर्धारित सभी कामों को पूरा करना होगा। बता दें कि यह योजना मंत्रालय के वायुमंडलीय विज्ञान कार्यक्रमों से संबंधित है और मौसम और जलवायु सेवाओं के विभिन्न पहलुओं को संबोधित करती है। प्रत्येक पहलू को अम्ब्रेला योजना के तहत आठ उप-योजनाओं के रूप में शामिल किया गया है और उपरोक्त चार संस्थाओं के माध्यम से एकीकृत तरीके से कार्यान्वित किया गया है।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें।आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो पर सकते हैं

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest पोस्ट

Related News

- Advertisement -