Homeदेश & राज्यWorld Mental Health Day 2021: जानिए मानसिक सेहत दिवस का महत्त्व

World Mental Health Day 2021: जानिए मानसिक सेहत दिवस का महत्त्व

आज के दौर में हर तीसरा इंसान मानसिक तनाव से गुजर रहा है। इस भागती दौड़ती जिंदगी में लोग सुकून भूल चुके हैं। कई बार लोग इसे इस कदर अनदेखा कर देते हैं कि वो मेंटल स्ट्रेस, डिप्रेशन, एंजाइटी से लेकर हिस्टीरिया, डिमेंशिया, फोबिया जैसी मानसिक बीमारी का शिकार हो जाते हैं।

लोग मानसिक तनाव को समझें और उस को महत्व दे, इसको समझाने के लिए आज के दिन यानी कि 10 अक्टूबर को विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस के रुप में मनाया जाता है। इसका मकसद लोगों के बीच मानसिक दिक्कतों को लेकर जागरूकता फैलाया जाना है। वो भी ऐसे वक्त में जब देश कोरोना को लेकर परेशान है।

आपको बता दें कि वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे की शुरुआत साल1992 से हुई। इसे यूनाइटेड नेशन के उप महासचिव रिसर्च सेंटर और वर्ल्ड फेडरेशन फॉर मेंटल हेल्थ की पहल पर शुरू किया गया था। इस फेडरेशन में 150 से अधिक देश शामिल थें। साल 1994 में संयुक्त राष्ट्र के तत्कालीन महासचिव यूजीन ब्रॉडी में थीम के साथ इस दिन को मनाने का सुझाव दिया। इसके बाद से ही मानसिक स्वास्थ्य की महत्ता को समझाने के लिए हर साल 10 अक्टूबर को वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे मनाया जाता है।

आपको बता दें कि साल 2021 के लिए वर्ल्ड फेडरेशन फॉर मेंटल हेल्थ के प्रेसिडेंट डॉ इंग्रिड डेनियल ने थीम एक असमान दुनिया में मानसिक स्वास्थ्य’ रखी है। इस थीम को चुनने के पीछे मकसद यह है कि आज के इस कोरोना काल में अमीर से लेकर गरीब तक हर कोई मानसिक बीमारियों से ग्रसित है। लेकिन, समाज में आज भी इसे लेकर सामाजिक और आर्थिक दर्जे के अनुसार भेदभाव बहुत बढ़ा है।

2015-16 में हुए एक नेशनल सर्वे के अनुसार, भारत में हर 8 में एक व्यक्ति यानी करीब 17.5 करोड़ लोग, किसी एक तरह की मानसिक बीमारी से ग्रसित हैं। इनमें से 2.5 करोड़ लोग गंभीर बीमारी से ग्रसित है। इन्हें तुरंत मेंटल हेल्प की जरूरत।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें।आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो पर सकते हैं

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img

Latest पोस्ट

Related News

- Advertisement -spot_img