Homeदेश & राज्यमहबूबा मुफ्ती ने कृषि कानून के खत्म करने वाले फैसले का किया...

महबूबा मुफ्ती ने कृषि कानून के खत्म करने वाले फैसले का किया स्वागत, कहा कश्मीर में भी की गई गलती सुधारी जाए

तीनों कृषि कानून लंबे संघर्ष के बाद सरकार ने वापस ले लिया है अब इसके बाद से ही राजनीतिक गलियारों में स्क्रीन जोर-शोर से चर्चा हो रही है। विपक्ष जहां इस फैसले को लेकर सरकार पर हमलावर है तो वहीं बीजेपी पीएम मोदी कर रहीं है। कोई फैसले का स्वागत कर रहा है सरकार की नीयत पर सवाल खड़ा कर रहा है। अब इसी कड़ी में जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने भी इस मामले पर अपनी प्रतिक्रिया दी है।

महबूबा मुफ्ती ने सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है, लेकिन इसे एक चुनावी घोषणा भी कहा है। उनके मुताबिक क्योंकि चुनाव आ रहे हैं ऐसे में बीजेपी ने यह फैसला लिया है। वह कहती है कि कृषि कानून का वापस होना स्वागत की बात है ,लेकिन यह चुनावी मजबूरी ज्यादा लगता है डर है कि कहीं चुनाव में हार जाए।

इसी के साथ ही महबूबा मुफ्ती ने एक बार फिर से 370 बहाल करने का राग गाना शुरू कर दिए। अपने अपने महबूबा मुफ्ती ने आरओ में कह दिया कि 370 भी बाहर कर देना चाहिए उनके जैसे कृषि कानून वापस हुए हैं वैसे ही अब इस पर भी फैसला हो जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर से उसकी पहचान और ताकत सिर्फ इसलिए छीन ली गई है जिससे बीजेपी के वोटरों को खुश किया जा सके मुझे उम्मीद है कि आप यहां भी गलती को सुधारा जाएगा और अगस्त 2019 में हुए फैसलों को बदला जाएगा।

बता दें कि यह कोई पहला मौका नहीं है जब महबूबा मुफ्ती ने 370 का राग छेड़ा है। इससे पहले भी कई मौकों पर उन्होंने 370 खत्म करने को गैरकानूनी करार दिया है और कश्मीरियों के साथ अन्याय बताया है। अभी के लिए पीडीपी प्रमुख होम अरेस्ट में चल रही हैं।उन पर घाटी में माहौर खराब करने का आरोप है।

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest पोस्ट

Related News

- Advertisement -