Homeदेश & राज्यNIA Raids: 96 ठिकानों पर छापेमारी के बाद 106 कार्यकर्ताओं को किया...

NIA Raids: 96 ठिकानों पर छापेमारी के बाद 106 कार्यकर्ताओं को किया गिरफ्तार, अब तक की सबसे बड़ी जांच प्रक्रिया

NIA Raids: नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी की अगुवाई में कई एजेंसियों ने कल 22 सितंबर को 15 राज्यों में छापेमारी की। आतंकी गतिविधियों में कथित संलिप्तता के सिलसिले में पीएफआई के खिलाफ कानून प्रवर्तन एजेंसियों ने कल गुरुवार को 15 राज्यों में 96 स्थानों पर छापेमारी की है। इस छापेमारी को अधिकारियों ने अब तक की सबसे बड़ी जांच प्रक्रिया का करार दिया है। इन छापों के बाद पीएफआई पर प्रतिबंध की संभावना जताई जा रही है। देश में आतंकवादी गतिविधियों में शामिल पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के 106 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है।

Also Read: Government Awards: सरकारी पुरस्कारों की संख्या घटाकर उनमें सुधार करने का फैसला कर रही केंद्र सरकार, जताई गई नाराजगी

घटनाओं को अंजाम दिया

अधिकारियों का कहना है कि यह संगठन कथित ‘लव जिहाद’ की घटनाओं, जबरन धर्म परिवर्तन, नागरिक अधिनियम के खिलाफ देश के विभिन्न हिस्सों में हिंसक विरोध प्रदर्शन में अपनी भूमिका, मुस्लिम युवाओं को कट्टरपंथी बनाने, धन शोधन और प्रतिबंधित समूह से संपर्क को लेकर विभिन्न एजेंसियों की निगाह में था। अधिकारियों ने कहा कि पीएफआई द्वारा कथित रूप से समय-समय पर किए गए अपराधिक और हिंसक कृतियों में केरल में एक कॉलेज के प्रोफेसर का हाथ काटना, अन्य धर्मों को मानने वाले संगठनों से जुड़े लोगों की निर्मम हत्या ऐसी घटनाओं को अंजाम दिया गया। अब इस मामले से जुड़ी कुछ बड़ी खबरें भी सामने आई हैं।

1- पीएफ को कथित तौर पर खाड़ी देशों में रह रहे उनके हमदर्द भारतीयों से धन प्राप्त होता था। अधिकारियों का कहना है कि देश भर में लगभग एक साथ छापेमारी में एनआईए के नेतृत्व में बहु एजेंसी अभियान ने कल गुरुवार को देश में आतंकी गतिविधियों का समर्थन करने के लिए पीएफआई के 106 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया है।
2- अधिकारियों के अनुसार छापेमारी के दौरान जो गिरफ्तारी की गई है उन्हें अब तक की ‘सबसे बड़ी जांच प्रक्रिया’ का करार दिया जा सकता है।
3- सबसे ज्यादा गिरफ्तारी केरल में हुई है, जहां 22 लोगों को गिरफ्तार किया गया है इसके बाद महाराष्ट्र और केरल में 20-20 तमिलनाडु में 10, असम में 9, उत्तर प्रदेश में 8, आंध्र प्रदेश में 5, मध्यप्रदेश में 4, पांडिचेरी और दिल्ली में 3-3, राजस्थान में दो लोगों को गिरफ्तार किया है।
4- बता दें कि कई सुरक्षा एजेंसी ने पीएफआई की जड़े नेशनल डेवलपमेंट फ्रंट में होने की बात कही है, जो एक कट्टरपंथी इस्लामी संगठन है। जिसे बाबरी मस्जिद के विध्वंस के परिणाम स्वरूप एक साल बाद 1993 में बनाया गया था।
5- 2006 में पीएफआई की स्थापना के बाद केरल, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, गुजरात, राजस्थान, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, असम और मणिपुर समेत देश के कई राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में इसकी शाखाएं हैं।
6- अधिकारियों के मुताबिक एनआईए ने पीएफआई के खिलाफ पहले की गई जांच के तहत 45 लोगों को दोषी ठहराया था। इस मामले के संबंध में कुल 355 लोगों के खिलाफ आरोपपत्र दायर किया गया है।

Also Read: Amit Shah Bihar Visit: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह का बिहार दौरा, जानें मिनट-टू-मिनट कार्यक्रम

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो पर सकते हैं।

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -

Latest Post

Latest News

- Advertisement -