Homeदेश & राज्यएनएसई घोटाला: ईडी ने तिहाड़ जेल में बंद चित्रा रामकृष्ण से घंटों...

एनएसई घोटाला: ईडी ने तिहाड़ जेल में बंद चित्रा रामकृष्ण से घंटों तक की पूछताछ

एनएसई को-लोकेशन घोटाले के सिलसिले में प्रवर्तन निदेशालय ED ने मंगलवार को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज की पूर्व सीईओ और एमडी चित्रा रामकृष्ण से तिहाड़ जेल में घंटों तक पूछताछ की। वित्तीय जांच एजेंसी केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा दर्ज प्राथमिकी के आधार पर इस मामले में समानांतर जांच कर रही है।

ईडी की टीम ने चित्रा से कुछ घंटों तक पूछताछ की और धन शोधन रोकथाम मामले के संबंध में उनका बयान दर्ज किया। आने वाले दिनों में अगर एजेंसी को दस्तावेजों के साथ बयान का मिलान करने की जरूरत पड़ी, तो वह चित्रा को गिरफ्तार भी कर सकती है। सीबीआई ने अप्रैल में चित्रा रामकृष्ण और एनएसई के पूर्व ग्रुप ऑपरेटिंग ऑफिसर आनंद सुब्रमण्यम के खिलाफ इस मामले में अपनी पहली चार्जशीट दाखिल की थी।

सीबीआई ने सुब्रमण्यम को 24 फरवरी को और चित्रा को 6 मार्च को गिरफ्तार किया था। सीबीआई मई 2018 से इस मामले की जांच कर रही है लेकिन उसे ‘रहस्यमय हिमालय योगी’ की पहचान करने के लिए कोई ठोस सबूत नहीं मिला है, जिनके साथ चित्रा ने एनएसई के बारे में गोपनीय जानकारी ईमेल पर साझा की थी।

हाल ही में सेबी ने चित्रा पर 3 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया था, जब बाजार नियामक ने पाया कि उन्होंने योगी के साथ एनएसई के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी साझा की थी।

चित्रा 1 अप्रैल 2013 को एनएसई की सीईओ और एमडी बनी थीं। वह 2013 में सुब्रमण्यम को अपने सलाहकार के रूप में एनएसई में ले आईं। सुब्रमण्यम को एनएसई का मुख्य रणनीतिक सलाहकार बनाया गया था। उन्होंने पूंजी बाजार में कोई जोखिम नहीं होने के बावजूद 2015 और 2016 के बीच समूह संचालन अधिकारी और एमडी के सलाहकार बनने से पहले 2013 और 2015 के बीच इस पद पर कार्य किया।

यह भी पढ़े: Restaurant Service Charge: जबरन सर्विस चार्ज पर रेस्टोरेंट संचालकों को केंद्र सरकार सख्‍त चेतावनी

पहले बामर और लॉरी में मिड-लेवल मैनेजर के रूप में काम करते हुए उनका वेतन 15 लाख रुपये से बढ़कर 1.68 करोड़ रुपये सालाना और फिर 4.21 करोड़ रुपये हो गया। सुब्रमण्यम ने अक्टूबर 2016 में और चित्रा ने दिसंबर 2016 में एनएसई छोड़ दिया था।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो पर सकते हैं।

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest पोस्ट

Related News

- Advertisement -