Punjab Politics: पंजाब के CM भगवंत मान चंडीगढ़ जिला अदालत में हुए पेश, 2 साल पहले पुलिस दर्ज किया था केस

Date:

Punjab Politics: पंजाब के सीएम भगवंत मान चंडीगढ़ में प्रदर्शन करने से जुड़े एक पुराने केस में जिला अदालत में पेश हुए। सीएम भगवंत मान से जुड़ा यह मामला 10 जनवरी 2020 का है।

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान शनिवार को चंडीगढ़ जिला अदालत पहुंचे। जिला अदालत ने उन्हें पिछली तारीख में कोर्ट में पेश होने के निर्देश जारी किए थे। सीएम भगवंत मान के साथ पंजाब के पूर्व एडवोकेट जनरल अनमोल रतन सिंह सिद्धू मौजूद थे। इस दौरान पूर्व स्पेशल प्रॉसिक्यूटर प्रथम सेठी भी कोर्ट की कार्रवाई के दौरान मौजूद रहे। कोर्ट में सीएम भगवंत मान को चार्जशीट की कॉपी दी गई, जिसके बाद वे अदालत से चले गए।

यह है पूरा मामला

दरअसल सीएम भगवंत मान चंडीगढ़ में प्रदर्शन करने से जुड़े एक पुराने केस में जिला अदालत में पेश हुए। सीएम भगवंत मान से जुड़ा यह मामला 10 जनवरी 2020 का है, जब चंडीगढ़ पुलिस ने यहां के एमएलए छात्रावास के सामने बिजली दरों में वृद्धि के खिलाफ विरोध प्रदर्शन को लेकर केस दर्ज किया था। पंजाब के आम आदमी पार्टी के अध्यक्ष और तत्कालीन संगरूर के सांसद और अब के सीएम भगवंत मान और पार्टी के सात विधायकों पर पुलिस के काम में बाधा डालने, मारपीट करने के आरोप में मामला दर्ज किया गया था।

ये भी पढ़ें: Sushma Swaraj Death Anniversary: सीएम शिवराज ने सुषमा स्वराज को पुण्यतिथि पर किया याद, कई ट्वीट कर दी विनम्र श्रद्धांजलि

प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे थे भगवंत मान

प्रदर्शन के बाद पार्टी ने बयान जारी कर दावा किया था कि विधायक अमन अरोड़ा सहित उनके करीब दो दर्जन कार्यकर्ता घायल हुए थे। उनमें से दो को चंडीगढ़ स्थित अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था। आप के प्रदर्शन का नेतृत्व भगवंत मान कर रहे थे। पार्टी विधायक हरपाल सिंह चीमा, कुलतार सिंह संधवन, मंजीत सिंह बिलासपुर, बलदेव सिंह, मीत हयर, बलजिंदर कौर और अन्य नेता शामिल थे। बता दें कि पंजाब ने घरेलू उपभोक्ताओं के लिए बिजली की दरों में एक जनवरी 2020 से 36 पैसे प्रति यूनिट की बढ़ोतरी की थी। उस समय कैप्टन अमरिंदर सिंह कांग्रेस सरकार के मुख्यमंत्री थे। आम आदमी पार्टी के विधायकों सहित अन्य कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस सरकार के खिलाफ चंडीगढ़ में प्रदर्शन किया था।

ये भी पढ़ें: Azadi Ka Amrit Mahotsav: पीएम मोदी आज करेंगे आजादी के अमृत महोत्सव को लेकर बैठक, सभी राज्यों के CM को दिया गया आमंत्रण

इस मामले में चंडीगढ़ पुलिस ने धारा 147, 149, 332 और 353 के तहत आरोप पत्र दायर किया है। आपको बता दें कि पंजाब ने घरेलू उपभोक्ताओं के लिए बिजली की दरों में एक जनवरी 2020 से 36 पैसे प्रति यूनिट की बढ़ोतरी की थी। उस समय राज्य में कांग्रेस की सरकार थी और कैप्टन अमरिंदर सिंह मुख्यमंत्री थे। आम आदमी पार्टी के विधायकों सहित दूसरे कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस सरकार के खिलाफ चंडीगढ़ में प्रदर्शन किया था।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो पर सकते हैं।

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related