Homeदेश & राज्यपुस्तक विमोचन कार्यक्रम में संघ प्रमुख मोहन भागवत का बयान, कहा वीर...

पुस्तक विमोचन कार्यक्रम में संघ प्रमुख मोहन भागवत का बयान, कहा वीर सावरकर को बदनाम करने की हो रही कोशिश

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत आज वीर सावरकर पर पुस्तक के विमोचन कार्यक्रम में शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने वीर सावरकर से जुड़ी कई बातें कहीं उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता के बाद से ही वीर सावरकर को बदनाम करने की कोशिश हो रही है। आज के समय में वीर सावरकर के बारे में सही जानकारी किसी के पास नहीं है। आगे उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि अभी संघ और वीर सावरकर पर टीका टिप्पणी हो रही है। पर आने वाले समय में विवेकानंद दयानंद और स्वामी अरविंद का भी नंबर आयेगा।

उन्होंने कहा कि भारत को जोड़ने से जिन लोगों की दुकान बंद हो जाएगी, उनको अच्छा नहीं लगता है। ऐसे जोड़ने वाले विचार को धर्म माना जाता है, लेकिन यह धर्म जोड़ने वाला है ना कि पूजा पद्धति के आधार पर बांटने वाला। इसको मानवता या संपूर्ण विश्वास की एकता कहा जाता है। वीर सावरकर ने इसी को हिंदुत्व कहा है।

मोहन भागवत ने कहा कि सैयद अहमद को मुस्लिम असंतोष का जनक कहा जाता है। इतिहास में दारा शिकोह, अकबर हुए पर औरंगजेब भी हुए जिन्होंने चक्का उल्टा घुमाया। अशफाक उल्लाह खान ने कहा था कि मरने के बाद अगला जन्म भारत में लूंगा। ऐसे लोगों के नाम गूंजने चाहिए।

संघ प्रमुख ने यह भी कहा कि सुरक्षा नीति चलेगी। सुरक्षा की बात पर चलेगी पर राष्ट्रीय नीति के पीछे पीछे। कुछ लोग मानते हैं कि 2014 के बाद सावरकर का युग आ रहा है, तो यह सही है। सबकी जिम्मेदारी और भागीदारी होगी। यह हिंदुत्व है। हम एक हो रहे हैं। यह अच्छी बात है पर इसका मतलब यह नहीं कि हम अलग हैं।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें।आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो पर सकते हैं

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img

Latest पोस्ट

Related News

- Advertisement -spot_img