Homeदेश & राज्यस्वच्छ सर्वेक्षण -2021 का हुआ ऐलान, इंदौर शहर ने एक बार फिर...

स्वच्छ सर्वेक्षण -2021 का हुआ ऐलान, इंदौर शहर ने एक बार फिर मारी बाजी

स्वच्छ सर्वेक्षण -2021 का ऐलान हो चुका है और लगातार पांचवीं बार मध्यप्रदेश के इंदौर शहर ने बाजी मारी है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज विजेताओं को स्वयं सम्मानित किया। स्वच्छ सर्वेक्षण -2021 में इंदौर के बाद दूसरा स्थान गुजरात के सूरत शहर का रहा और तीसरा स्थान आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा का रहा। उत्तर प्रदेश के वाराणसी को सबसे स्वच्छ गंगा शहर के खिताब से नमाजा गया, स्वच्छ भारत मिशन – शहरी 2.0 के तहत उन शहरों को सम्मानित किया जाता है जो कचरा -मुक्त शहरों की श्रेणी में आगे होते हैं।

Swachh Survekshan 2021: From Indore to Ahmedabad - Click here for top 10  cleanest cities in India

आपको बता दे इस बार के स्वच्छता सर्वेक्षण में 4320 शहरों को शामिल किया गया था, यह दुनियाभर में सबसे बड़ा स्वच्छता सर्वेक्षण बन चुका है। इतने बड़े स्तर पर किसी भी देश ने स्वच्छता सर्वेक्षण नहीं किया है। स्वच्छ सर्वेक्षण को केंद्रीय आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय के अभियान “सफाईमित्र सुरक्षा चैलेंज” के तहत अच्छा प्रदर्शन करने वाले शहरों को मान्यता प्रदान करते हुए उस शहर के सभी सफाई कर्मचारियों के योगदान को सराहा जाता है।

यह भी पढ़े- फ्लिपकार्ट पर मोबाइल्स बोनांजा सेल में एप्पल से लेकर वीवो तक हर एक मोबाइल पर मिल रहा है भारी डिस्काउंट

swachh Amrit Mahotsav: देश को स्वच्छ रखने वाले 342 शहरों को राष्ट्रपति के  हाथों में मिला सम्मान | President Ram Nath Kovind to present Swachh  Survekshan Awards 2021 tv cleanest cities KPA

2016 में इस अभियान की शुरुआत की गई थी, उस समय स्वच्छता सर्वेक्षण में महज 73 महानगरों को शामिल किया गया था। इस बार नागरिकों से मिले फीडबैक की संख्या के आधार पर स्वच्छता सर्वेक्षण के विजेताओं का ऐलान किया गया है, इस बार के सर्वेक्षण में 5 करोड़ से अधिक देशवासियों ने अपना फीडबैक प्रदान किया पिछले साल फीडबैक की संख्या महज 1.87 करोड़ की थी जो इस साल काफी बढ़ी है।

President Ram Nath Kovind To Present Swachh Survekshan Awards 2021 To  Cleanest Cities In India

मंत्रालय ने बयान जारी कर बताया कि स्वच्छ सर्वेक्षण -2021 में सामने आया है कि जमीनी स्तर पर काफी शहरों और राज्यों ने स्वच्छता में सुधार किया है, उनके प्रदर्शन में काफी सुधार आया है। उन्होंने आगे बताया कि छह राज्यों और छह केंद्रशासित प्रदेशों ने अपने यहां जमीनी स्तर पर काफी काम किया है जिसकी वजह से वहां 5 प्रतिशत से लेकर 25 प्रतिशत तक का सुधार आया है।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें।आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो पर सकते हैं

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest पोस्ट

Related News

- Advertisement -