गैंगस्टर विकास दुबे कहां हो गया फरार, भाई के घर से मिली सरकारी कार…जानिए 8 मौतों के कितने ‘गुनहगार’।

Date:

कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों की मौतों का मुजरिम अब तक गायब है । पुलिस की 100 टीमें विकास दुबे को ढूंढने में जुटी है । लेकिन विकास को बिल से बाहर निकालने में कोई सफलता नहीं मिली है । राज्य से लगने वाले नेपाल बॉर्डर पर भी जवानों को अलर्ट कर दिया गया है । SSB के जवान विकास की फोटो के साथ सभी गाड़ियों की तलाशी कर रहे हैं । विकास वारदात को अंजाम देने के बाद अपने गुर्गों के साथ फरार हो गया था। विकास की लास्ट फोन लोकेशन औरैया जिले से मिली थी । औरैया से मध्य प्रदेश सटा हुआ है। इस लिहाज से विकास मध्य प्रदेश भी भाग सकता है । दूसरे राज्यों से जुड़ी सीमाओं को भी अलर्ट कर दिया गया है । 2001 में तत्कालीन राज्यमंत्री संतोष शुक्ला की शिवली थाने में हत्या के मामले में विकास ने ग्वालियर और कोलकाता में खूब फरारी काटी थी । साथ ही सरकार विकास दुबे को प्रदेश तथा बाहर भी संरक्षण देने वाले नेता और अफसरों का भी कनेक्शन तलाश रही है।

विकास दुबे की संपत्तियों की जांच ।

हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की संपत्तियों की जांच भी प्रशासन ने शुरू कर दी है। जानकारी के मुताबिक कानपुर में उसके नाम सिर्फ डेढ़ बीघा जमीन है।कानपुर देहात, लखनऊ समेत अन्य जिलों में भी संपत्तियों को खंगाला जा रहा है। जिला प्रशासन के अफसरों के मुताबिक विकास के पिता रामकुमार के पास 6 बीघा जमीन है। उसकी पत्नी, बच्चों व रिश्तेदारों के नाम से भी संपत्तियां तलाशी जा रही हैं।

लखनऊ में विकास के भाई के घर से सरकारी गाड़ी बरामद ।

पुलिस विकास दुबे की तलाश में छापे मार रही है । इसी दौरान लखनऊ में विकास के भाई दीप प्रकाश के घर से सरकारी एंबेसडर गाड़ियां मिली हैं । पुलिस ने सरकारी एंबेसडर गाड़ी सहित कुल दो एंबेसडर गाड़ियों को अपने कब्जे में लिया है। दोनों गाड़ियों के अलावा एक बुलट गाड़ी को पुलिस ने सीज कर दिया है। पुलिस की जांच में गाड़ियों के कागज नहीं मिले । हालांकि पुलिस को नीलामी और दूसरे से ली गई ट्रांसफर गाड़ियों के बारे में बताया गया है ।

विकास दुबे का घर ध्वस्त ।

शनिवार को भी पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए गैंगस्टर विकास दुबे के किलेनुमा घर को ध्वस्त कर दिया। प्रशासन ने उसी जेसीबी से विकास के घर को गिराया, जिससे उसने पुलिस का रास्ता राेका था। इसके साथ ही विकास के घर में खड़े ट्रैक्टर और दो एसयूवी कारों को भी तोड़ दिया। पुलिस ने पूछताछ के लिए अभी तक 12 लोगों को हिरासत में लिया है और 250 से ज्यादा नंबर सर्विलांस पर लिए हैं। विकास ने लास्ट 24 घंटे में जिससे भी बात की सभी को ढूंढा जा रहा है । पूरा मामला गुरुवार – शुक्रवार की रात का है । कानपुर के चौबेपुर के बिकरू गांव में जमीन कब्जे के आरोप में पुलिस की टीम विकास के घर में दबिश डालने गई । तभी अचानक पुलिसकर्मियों को घेरकर विकास और उसके गुर्गों ने धावा बोल दिया । जिसमे एक सीओ समेत आठ पुलिसकर्मियों की मौत हो गई । जिसके बाद विकास अपने गुर्गों के साथ फरार हो गया । सरकार सख्त है और विकास दुबे की काली कमाई पर लगातार वार कर रही है। दूसरी तरफ पुलिस लगातार विकास के ठिकानों में छापेमारी कर रही है । और विकास को ढूंढने की हर कोशिश में जुटी हुई है । लेकिन हर किसी के मन में ये ही सवाल है की योगी राज में कानून को चुनौती देते हुए आखिर विकास गायब कहां हो गया । आखिर खाकी का कातिल कब सलाखों के पीछे होगा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related