Homeदेश & राज्यवैक्सीनेशन की वजह से संक्रमित दर मे आई कमी, तीसरी लहर दूसरी...

वैक्सीनेशन की वजह से संक्रमित दर मे आई कमी, तीसरी लहर दूसरी लहर की अपेक्षा कम खतरनाक

कोरोना की तीसरी लहर दूसरी लहर की अपेक्षा कम खतरनाक साबित हुई है। लेकिन उतार-चढ़ाव के बावजूद संक्रमण के मामलों में अब बढ़ोतरी भी देखी जा रही है। कम खतरनाक होने के कारण तीसरी लहर को हल्के में नहीं लिया जा सकता। मैक्स हेल्थ केयर द्वारा किए गए सर्वे में कई आंकड़े सामने आए हैं।

हेल्थ केयर द्वारा बताया गया है कि मौजूदा कोरोनावायरस और दूसरी लहर की अपेक्षा कम खतरनाक है और अलग भी है। अध्ययन के आधार पर कहा गया है कि पिछले साल अप्रैल से मई के दौरान कोरोना संक्रमित व्यक्तियों को ऑक्सीजन की जरूरत पड़ी थी। लेकिन तीसरी लहर के दौरान सिर्फ 23% मरीजों को ऑक्सीजन सपोर्ट की जरूरत पड़ी। मैक्स हेल्थ केयर के समूह चिकित्सा निदेशक संदीप बुद्धि राजा ने बताया कि उन्होंने दो महत्वपूर्ण बिंदुओं पर अध्ययन किया। जिसमें देखा गया की ल तीसरी हर के दौरान अस्पताल में कुल एंट्री बहुत कम हो रही है।

यह भी पढ़े :- उत्तर प्रदेश: 93 बार चुनाव हार चुका है शख्स, बनाना चाहता है 100 बार चुनाव हारने का अनोखा रिकॉर्ड

दूसरी लहर के दौरान अस्पतालों में भर्ती हुए मरीजों में लगभग 70 से 80% लोगों को ऑक्सीजन सपोर्ट की आवश्यकता थी। पहली लहर के दौरान लोगों को अस्पताल में ऑक्सीजन की जरूरत पड़ी उनमें से 63% मरीजों को ऑक्सीजन सपोर्ट दिया गया। जबकि दूसरी लहर के दौरान 74% मरीजों को ऑक्सीजन सपोर्ट दिया गया। अब तीसरी लहर के दौरान संक्रमितों की संख्या में कमी आई है।

इस बार भी संक्रमित लोगों की संख्या उतनी नहीं है। लेकिन अस्पताल में भर्ती होने वाले लोगों की संख्या पहली और दूसरी लहर की तुलना में बहुत कम है। दिल्ली में दूसरी और तीसरी लहर के दौरान लगभग 28000 मामले प्रतिदिन दर्ज किए जाते थे। कोरोना वैक्सीनेशन के कारण संक्रमित आंकड़ों में कमी देखी गई है। इन आंकड़ों को देखकर माना जा सकता है कि अस्पताल में दूसरी लहर के दौरान लोगों को ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ा।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें।आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो पर सकते हैं

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest पोस्ट

Related News

- Advertisement -