Homeदेश & राज्यराजस्थान के जालोर में दलित युवक की पिटाई का वीडियो हुआ वायरल,...

राजस्थान के जालोर में दलित युवक की पिटाई का वीडियो हुआ वायरल, पुलिस ने 5 आरोपियों को पकड़ा

ताजा मामला राजस्थान के जालोर से सामने आया है, जहां दलित युवक से साथ मारपीट की गई है। बताया जा रहा है कि, पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने 36 घंटे के अंदर 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

देश में दलित उत्थान और सामाजिक कुरीतियों को खत्म करने की बात कई दशकों से की जा रही है, लेकिन परिणाम अभी तक सामने नही आ पाया है। ताजा मामला राजस्थान के जालोर से सामने आया है, जहां दलित युवक से साथ मारपीट की गई है। बताया जा रहा है कि, पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने 36 घंटे के अंदर 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया, वहीं 4 आरोपी अभी भी पुलिस की गिरफ्त से दूर हैं।

जालोर पुलिस ने क्या कहा
इस मामले के सामने आने के बाद पुलिस हरकत में आ गई। जालोर के पुलिस अधीक्षक श्याम सिंह ने जानकारी देते हुए कहा कि, “पकड़े गए आरोपियों की पहचान जितेन्द्र सिंह पुत्र जबर सिंह राव, हेम सिंह पुत्र रूप सिंह, नरपत सिंह पुत्र हिम्मत सिंह, दिलीप वैष्णव पुत्र बद्री दास और पिंटू उर्फ जीतू पुत्र लहरा राम के रूप में की गई है. इस मामले में हमारी तरफ से गठित की गई विशेष टीम ने संदिग्ध स्थानों पर दबिश देकर जोधपुर और जालोर से इन पांचों आरोपियों को गिरफ्तार किया है.”

वीडियो वायरल होने के बात तुरंत हुई कार्रवाई
इस मामले को लेकर जालोर जिले के एसपी एसपी श्याम सिंह ने कहा, “घटना का वीडियो वायरल होने की सूचना मिलने पर पीड़ित जितेन्द्र बामणिया पुत्र तेजपाल बामणिया रामदेव कॉलोनी स्थित आवास पर जाकर उसके बयान दर्ज किए और उसकी तहरीर पर मारपीट और एससी एसटी एक्ट के तहत कोतवाली थाने पर मुकदमा दर्ज कराया. फौरन पीड़ित का मेडिकल भी करवाया गया. साथ ही मौके पर पहुंचकर चश्मदीद गवाहों से पूछताछ भी की गई.”

पीड़ित ने क्या कहा
उधर, पीड़ित ने अपने बयान में कहा है कि, “1 अक्टूबर की शाम करीब 4 बजे कस्बे के मामाजी की उण में वह अपने दोस्त गुलाब सिंह, नवीन चौहान और अशरफ खां के साथ बैठा था. इतने में गुलाब सिंह के दो दोस्त जितेन्द्र सिंह और नरपत सिंह वहां आए और गुलाब सिंह के साथ गाली गलौच करने लगे. इसके बाद वे वहां से चले गए. आधा घंटे बाद जितेन्द्र सिंह, दिलीप वैष्णव, नरपत सिंह, पिंटू उर्फ जीतु और हेम सिंह वापस आ गए. आते ही उन्होंने पीड़ित का रास्ता रोका ओर मारपीट करने लगे. साथ ही जातिगत शब्दों से अपमानित भी किया”

यह भी पढ़े- जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में पांच जवान हुए शहीद, देश याद रखेगा उनका बलिदान

फिलहाल मामले की जांच के लिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डॉ. अनुकृति उज्जैनिया को जिम्मेदारी दी गई है। एक टीम का गठन हुआ है जो अलग-अलग जगहों पर जाकर आरोपियों की तलाश कर रही है।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKTWITTER और INSTAGRAM पर भी फॉलो पर सकते हैं।

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img

Latest पोस्ट

Related News

- Advertisement -spot_img