Homeराज्यउत्तर प्रदेशसुपरटेक ट्विन टावर मामले में विजिलेंस जांच शुरू, 30 से ज्यादा लोगों...

सुपरटेक ट्विन टावर मामले में विजिलेंस जांच शुरू, 30 से ज्यादा लोगों पर दर्ज है केस

नोएडा के सुपरटेक ट्विन टावर के मामले में अब कड़ा रुख अपनाते हुए उत्तर प्रदेश की विजिलेंस ने जांच शुरू कर दी गई है। मामले में अब तक 30 लोगों के खिलाफ केस दर्ज हो चुके हैं।

नोएडा के सुपरटेक ट्विन टावर के मामले में अब कड़ा रुख अपनाते हुए उत्तर प्रदेश की विजिलेंस ने जांच शुरू कर दी गई है। मामले में अब तक 30 लोगों के खिलाफ केस दर्ज हो चुके हैं। जिसमें नोएडा प्राधिकरण के 26 पूर्व और वर्तमान अधिकारियों, चार सुपरटेक लिमिटेड निदेशकों और दो आर्किटेक्ट्स के नाम शामिल हैं। अब केस दर्ज होने के बाद  उत्तर प्रदेश विजिलेंस ने जांच शुरू कर दी है। मामले में ध्यान देने वाली बात ये है कि आरोपी अफसरों में से तीन आईएएस अधिकारी भी हैं जिनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

3 आईएएस अधिकारी पर भी केस दर्ज


गौरतलब है कि नोएडा प्राधिकरण ने सोमवार को ही नोएडा प्राधिकरण के 26 पूर्व और वर्तमान अधिकारियों, चार सुपरटेक लिमिटेड निदेशकों और दो आर्किटेक्ट्स के खिलाफ बिल्डिंग नियमों का उल्लंघन करने और सेक्टर 93 ए में सुपरटेक के ट्विन टावरों को नक्शा स्वीकृति देने में शामिल होने के लिए प्राथमिकी दर्ज की थी। मामले में नामित नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों में से 20 सेवानिवृत्त हो चुके हैं, दो की मौत हो चुकी है और चार अभी भी सेवारत हैं। बता दें कि ट्विन टावरों को गिराने के लिए 2 महीने से भी कम का समय बचा है। नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों ने बीते बुधवार को कहा कि ट्विन टावरों को गिराने के लिए सुप्रीम कोर्ट की समय सीमा में दो महीने से भी कम समय बचा है और वो 12 अक्टूबर तक ट्विन टावरों को तोड़ने की प्रक्रिया के लिए रूपरेखा तैयार कर लेंगे।

यह भी पढे़:रीयल स्टेट कंपनी सुपरटेक एमेरल्ड को SC से बड़ा झटका,40 मंजिला 2 टावर ढहाने के आदेश

सुप्रीम कोर्ट ने दिया था टावर गिराने का आदेश

गौरतलब है कि प्राधिकरण रुड़की स्थित सेंट्रल बिल्डिंग रिसर्च इंस्टीट्यूट (सीबीआरआई) की मदद से दस्तावेज तैयार कर रहा है। पूरी प्रक्रिया की देखरेख के लिए सात सदस्यीय समिति का गठन किया गया है जिसमें एक अतिरिक्त सीईओ और इंजीनियरिंग और योजना प्रभागों के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हैं। बता दें कि 31 अगस्त को, न्यायमूर्ति धनंजय वाई चंद्रचूड़ की अगुवाई वाली सुप्रीम कोर्ट की एक बेंच ने सुपरटेक के एमराल्ड कोर्ट प्रोजेक्ट के ट्विन टावरों के हिस्से को इमारत के मानदंडों के गंभीर उल्लंघन पर गिराने का निर्देश दिया था।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो पर सकते हैं।

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img

Latest पोस्ट

Related News

- Advertisement -spot_img