Homeदेश & राज्यक्या देश की राजधानी में होगी बिजली गुल? जानिए क्या दावे कर...

क्या देश की राजधानी में होगी बिजली गुल? जानिए क्या दावे कर रही हैं सरकारें

दिल्ली में बिजली संकट बढ़ रहा हैं, हो सकता हैं अगले कुछ दिनों में दिल्ली अंधकार में डूब जाए। दिल्ली में अब तक कई पॉवर प्लांट कोयले की कमी होने की वजह से बंद हो चुके हैं, यह हाल केवल दिल्ली का नहीं हैं। महाराष्ट्र में सरकार जनता से गुजारिश कर रही हैं की वह बिजली बचाए तो वही दूसरी तरफ पंजाब में तो 3 घंटो के लिए बिजली की कटौती करी जा रही हैं। दिल्ली पर भी पंजाब की तरह बिजली का संकट बढ़ता नजर आ रहा हैं।

दिल्ली के ऊर्जा मंत्री ने कहा कि किसी भी बिजली पावरप्लांट में कोयले का स्टॉक किसी भी परिस्थिति में 15 दिन से कम नहीं होना चाहिए, लेकिन असल सच्चाई यह हैं कि राज्य के अधिकतम पावरप्लेंट में सिर्फ एक से दो दिनों तक का ही कोयला स्टॉक बचा हैं जो चिंताजनक बात हैं। एनटीपीसी जो सबसे ज्यादा बिजली उत्पादित करती हैं, वह इस वक्त केवल 55 फीसदी कैपेसिटी पर काम कर रही हैं।

Coal crisis for thermal power plants now could be good news for India later  | Business Standard News

हर जगह के थर्मल पॉवर प्लांट में कोयली की कमी होती जा रही हैं, जिसके चलते बीते दिन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री को पत्र लिख इसकी सूचना दी। पंजाब में बिजली की पहले से ही समस्या चली आ रही हैं। दिल्ली के ऊर्जा मंत्री सत्येंद्र जैन ने यह दावा किया कि दिल्ली की उच्चतम बिजली की खपत 7400 मेगावाट तक पहुंच गई थी, लेकिन कल के वक्त में यह 4562 मेगावाट थी। इसके बावजूद दिल्ली में बिजली की पूरी सप्लाई नहीं मिल रही हैं।

यह भी पढ़े- टीएमसी सांसद नुसरत जहां ने की एक्टर यश दासगुप्ता से शादी,जानिए कैसे हुआ खुलासा

सत्येंद्र जैन ने आगे बताया कि दिल्ली को करीबन 4000 मेगावार्ट बिजली उपलब्ध कराई जा रही हैं, उन्होंने कहा कि केंद्र के एनटीपीसी पॉवर प्लांट से दिल्ली को 4000 मेगावाट बिजली दी जाती थी। लेकिन इस वक्त एनटीपीसी से उन्हें इसका सिर्फ 55 फीसदी सप्लाई मिल रहा हैं, हम कमी को पूरा करने के लिए दिल्ली में मौजूद तीनों गैस प्लांट्स चला रहे हैं।

गैस की भी हो रही कमी

सत्येंद्र जैन ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से केंद्र द्वारा बिजली सप्लाई कम मिल रही हैं, जिसके चलते दिल्ली में मौजूद तीनों हाइड्रोइलेक्ट्रिक प्लांट से बिजली की कमी को पूरा किया जा रहा हैं। हाइड्रोइलेक्ट्रिक प्लांट की कुल कैपेसिटी 1900 मेगावार्ट बिजली पैदा करने की हैं, लेकिन गैस की कमी के कारण हम केवल 1300 मेगावाट ही बिजली पैदा कर पा रहे हैं।
आपको यह पता होगा की दिल्ली का अपना कोई कोयले से चलने वाला प्लांट नहीं हैं, जिसकी वजह से दिल्ली केंद्र पर निर्भर हैं। इस वजह से पॉवर परचेज एग्रीमेंट के अनुसार दिल्ली एनटीपीसी के प्लांट से बिजली खरीदती हैं।

जैन ने आगे बताया कि हमारा एनटीपीसी के साथ 3.5 – 4 हज़ार मेगावर्ट बिजली देने का एग्रीमेंट हैं, एनटीपीसी जो दिल्ली में नहीं हैं लेकिन बिजली हमारा हक हैं। इसी वजह से हम एनटीपीसी में कोयले की कमी पर सवाल उठा रहे हैं।

Decoded | Is India alone staring at power crisis? - News Analysis News

केजरीवाल ने लिखा पीएम को पत्र

कोयले की कमी को देखते हुए बीते दिनों अरविंद केजरीवाल ने पीएम मोदी को पत्र लिखते हुए बताया कि इस वक्त थर्मल पॉवर प्लांट्स में कोयले के स्टॉक में कमी आ रही हैं। जिसकी वजह से दिल्ली में बिजली की कमी को पूरा करने के लिए गैस प्लांट चलाए जा रहे हैं, लेकिन हमारे पास इतना गैस नहीं हैं की हम इन प्लांट्स को ज्यादा दिनों तक चला सके। उन्होंने केंद्र से मांग करी की वह इलेक्ट्रिसिटी एक्सचेंज में मुनाफाखोरी को रोक, बिजली बेचने के लिए 20 रुपये प्रति यूनिट का अधिकतम रेट तय किया जाए और दूसरे पावर प्लांट से कोयला दादरी और झज्जर प्लांट भेजा जाए। इसके साथ-साथ दिल्ली में मौजूद बवाना, जीटीपीएस और प्रगति मैदान (आईपी), इन तीनों गैस प्लांट को पर्याप्त गैस दी जाए जिससे बिजली की कमी पूरी करी जा सके।

केंद्र का क्या हैं कहना

केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह ने रविवार को बुलाए प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि पॉवर प्लांट्स में कोयले की कमी नहीं हो रही हैं। उन्होंने कहा ऐसी कोई क्राइसिस हैं ही नहीं, इसे कुछ लोग जानबूझकर फैला रहे हैं। यह एक अफवा हैं इसमें कोई सच्चाई नहीं हैं, उन्होंने आगे बताया कि ” जहां जितनी बिजली की जरूरत होगी, वहां उतना सप्लाई दिया जाएगा। हमारे पॉवर प्लांट्स में करीब 4.5 दिनों का कोयलों का स्टॉक मौजूद हैं, आपको जितनी बिजली की जरूरत हैं सरकार आपको उतना बिजली सप्लाई करेगी।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKTWITTER और INSTAGRAM पर भी फॉलो पर सकते हैं।

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img

Latest पोस्ट

Related News

- Advertisement -spot_img