GLA University: एनपीटीईएल की रैंकिंग में जीएलए का उत्तर प्रदेश में दूसरा और देश में 10वां स्थान

Last updated:

GLA University: विद्यार्थियों की बेहतर परफार्मेंस के आधार पर लगातार दूसरी बार जीएलए विश्वविद्यालय, मथुरा एनपीटीईएल (नेशनल प्रोग्राम ऑन टेक्नोलॉजी एन्हांस्ड लर्निंग) की रैंकिंग में उत्तर प्रदेष में उत्कृष्ट ‘एएए‘ रैकिंग यानि दूसरे स्थान पर रहा है। देश में इसे 10वां स्थान मिला है।

मिनिस्ट्री ऑफ एजुकेशन द्वारा संचालित स्वयं प्लेटफार्म पिछले चार वर्शों में जीएलए के 10 हजार से अधिक विद्यार्थियों ने एनपीटीईएल लोकल चैप्टर कोर्स करने के लिए रजिस्ट्रेशन कराया। इनमें 5300 से अधिक विद्यार्थी सर्टिफिकेट हासिल कर चुके हैं। 60 से अधिक विद्यार्थियों को गोल्ड़ सर्टिफिकेट, 800 से अधिक को सिल्वर एवं 180 से अधिक विद्यार्थियों को टॉपर का सर्टिफिकेट हासिल हुआ है। इसके अलावा सिविल इंजीनियरिंग विभाग के असिस्टेंट प्रो. जितेन्द्र गुडानियन को टॉप परफॉर्मिंग मेंटर तथा सिविल की असिस्टेंट प्रो. नेहा शर्मा और इलेक्ट्रॉनिक एंड कम्यूनिकेशन की असिस्टेंट प्रोफेसर स्वेता को मेंटर सर्टिफिकेट मिला है।

इसे भी पढ़ें: कैसे बनें पर्वतरोही? जानिये भारत में इसके संस्थान और कमाई

विदित रहे कि बीते दिनों स्वयं प्लेटफार्म पर टॉप 100 एनपीटीईएल लोकल चैप्टर रैंकिंग जारी हुई है। इसमें देश के बेस्ट परफार्मेंस वाले 100 संस्थानों की सूची जारी की गई। इसमें जीएलए विश्वविद्यालय, मथुरा का भी नाम शामिल है। इस सूची में जीएलए को टॉप 100 एनपीटीईएल लोकल चैप्टर रैंकिंग में उत्तर प्रदेश में ‘एएए‘ रैकिंग यानि दूसरा और भारत देश में 10वीं रैंकिंग हासिल हुई है। जबकि भारत देश में पिछली बार जीएलए को 12वीं रैकिंग हासिल हुई थी। यह रैंकिंग इस बात का भी प्रमाण है कि विश्वविद्यालय स्तर से इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट, साइंस आदि विशयों में उत्कृष्ट शिक्षा प्रदान की जा रही है।

जीएलए से एनपीटीईएल लोकल चैप्टर के कॉर्डिनेटर एवं असिस्टेंट लाइब्रेरियन डॉ. अजय कुमार शर्मा बताते हैं कि पिछले चार वर्षों में स्वयं प्लेटफार्म के माध्यम से विभिन्न सर्टिफिकेट कोर्स करने के रूचि दिखाने वाले छात्रों की अगर बात की जाय तो वर्श 2021 में 3 हजार से अधिक छात्रों ने रजिस्ट्रेशन कराया। इसके अलावा वर्श 2022 में यह आंकडा और बढ़ गया। इस वर्श 4500 से अधिक छात्रों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। यह संख्या में और भी बढ़ने का अनुमान है। उन्होंने बताया कि विद्यार्थियों के कौशल एवं उद्यमिता विकास के लिए उक्त प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध पाठ्यक्रमों को करने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। इसी कारण जीएलए को एनपीटीईएल में एएए स्कोर प्राप्त है।

इसे भी पढ़ें: AIIMS Recruitment 2022: मेडिकल स्टूडेंट्स के लिए सुनहरा मौका, एम्स में निकली 82 फैकल्टी पदों पर वैकेन्सी

प्रतिकुलपति प्रो. अनूप कुमार गुप्ता ने बताया कि आइआइटी के प्रोफेसरों द्वारा एनपीटीईएल पर संचालित किए जा रहे पाठ्यक्रमों को करने में तो विद्यार्थियों में अच्छी जिज्ञासा देखने को मिल ही रही है, बल्कि स्वयं प्लेटफॉर्म पर भी जीएलए के प्रोफेसरों के रिकॉर्डेड लेक्चरर उपलब्ध हैं। इन रिकॉर्डेड लेक्चर के माध्यम से विद्यार्थी शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं। यह सभी कोर्स यूजीसी, एआईसीटीई और भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय से मान्यता प्राप्त हैं।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो पर सकते हैं।

Zeen is a next generation WordPress theme. It’s powerful, beautifully designed and comes with everything you need to engage your visitors and increase conversions.