Homeराज्यउत्तर प्रदेशजीएलए विश्वविद्यालय विधि संस्थान में एनएलयू के प्रोफेसर छात्रों को पढ़ायेंगे कानूनी...

जीएलए विश्वविद्यालय विधि संस्थान में एनएलयू के प्रोफेसर छात्रों को पढ़ायेंगे कानूनी पाठ

मथुरा। जीएलए विश्वविद्यालय, मथुरा के इंस्टीट्यूट ऑफ लीगल स्टडीज एंड रिसर्च (विधि संस्थान) में छात्रों के लिए कोलॉबोरेटिव टीचिंग मॉडल लागू किया गया है। इससे छात्रों को एनएलयू के प्रोफेसरों के द्वारा विशेष लेक्चर के माध्यम से व्यावहारिक ज्ञान एवं अग्रिम कानून की शिक्षा का पाठ पढ़ाया जायेगा। इस संबंध में हाल ही में एक अतिथि व्याख्यान का आयोजन किया गया है।

आपसी सहमति से तलाक के संबंध में समसामायिक मुद्दे पर जीएलए विश्वविद्यालय के विधि संस्थान में एक अतिथि व्याख्यान का आयोजन किया गया व्याख्यान के दौरान नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी नई दिल्ली की प्रोफेसर अंजू त्यागी ने सहमति से तलाक के संबंध में समसामायिक मुद्दों पर बोलते हुए कहा कि भारत में तलाक के मुकदमे बढ़ते जा रहे हैं और कानून की जानकारी के अभाव में परिवार बिखर रहे हैं। भारतीय कानून आपसी सहमति पर तलाक देने को भी स्वीकृति देता है और सामाजिक एवं न्यायायिक मध्यस्तता के असफल होने के बाद आपसी सहमति से तलाक लेना कई सामाजिक एवं आर्थिक समस्याओं से निदान दे सकता है। उन्होंने वैवाहिक और सामाजिक कानूनी मुद्दों पर उच्चतम न्यायालय के नवीनतम निर्णयों के बारे में बात की और आपसी सहमति से तलाक के आधार पर भी ज्ञानवर्धन किया।

विधि संस्थान के डीन प्रो. अविनाश दाधीच ने मुख्य अतिथि के बारे में छात्रों को परिचय दिया। इसके बाद अतिथि व्याख्यान के विषय पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि अक्सर कानून की जानकारी के अभाव में वादी लंबे समय तक मुकदनों में अपना समय, पैसा खर्च और जीवन व्यर्थ करते हैं। सामाजिक एवं न्यायायिक मध्यस्तता का उपयोग करते हुए यादी अपने विवादों को शांतिपूर्वक सुलझा सकते हैं। अगर फिर भी विवाद का निराकरण नहीं होता है तो आपसी सहमति से तलाक दोनों पक्षों को एक कानूनी विकल्प दे सकता है।

प्रो. दाधीच ने कहा कि जीएलए विश्वविद्यालय का विधि संस्थान इसी पहल के तहत सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीशों, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय शीर्ष विश्वविद्यालयों के प्रोफेसरों के व्याख्यान की श्रृंखला जारी रखेगा। कार्यक्रम में संस्थान के विभिन्न संकाय सदस्यों ने भाग लिया। संस्थान के प्रोग्राम कॉर्डिनेटर एवं असिस्टेंट प्रोफेसर इन्द्र कुमार सिंह ने अतिथि का स्वागत किया एवं धन्यवाद ज्ञापन एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. मनीष यादव ने किया विधि संस्थान की छात्रा निमिया सिन्हा ने कार्यक्रम का संचालन किया।

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img

Latest पोस्ट

Related News

- Advertisement -spot_img