Homeएजुकेशन & करिअरShobhit University Gangoh में 16 दिवसीय सेवा पखवाड़े का शुभारंभ

Shobhit University Gangoh में 16 दिवसीय सेवा पखवाड़े का शुभारंभ

Shobhit University Gangoh : शोभित विश्वविद्यालय गंगोह में दिनांक 17-09-2022 को देश के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र दामोदर दास मोदी के प्रकटोत्सव के उपलक्ष्य में सेवा पखवाड़े का शुभारंभ किया गया।यह सेवा पखवाड़ा 17 सितम्बर से लेकर 2 अक्टूबर देश के राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी जयंती तक जारी रहेगा।शोभित विश्वविद्यालय गंगोह में 16 दिवसीय चलने वाले इस सेवा पखवाड़े में अनेक गतिविधियां संचालित की जाएगी।इस अवधि के दौरान शोभितविश्वविद्यालय गंगोह संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रमों (यूएनडीपी) द्वारा पहचाने गए 17 सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) के बारे में जागरूकता फैलाएगा। सतत विकास लक्ष्य (एसडीजी) गरीबी को समाप्त करने, ग्रह की रक्षा करने और यह सुनिश्चित करने के लिए एक सार्वभौमि क आह्वान है किस भी लोग शांति और समृद्धिका आनंद लें।सेवा पखवाड़े के प्रथम दिन जागरूकता रैली का आयोजन किया गया जिसमे विश्वविद्यालय के लगभग 250 छात्र-छात्राओं ने प्रतिभाग किया।इस जागरूकता रैली के माध्यम से जनमानस को नो पॉवर्टी के सन्दर्भ में जागरूक किया गया।

16 दिवसीय सेवा पखवाड़े का शुभारंभ


तत्पश्चात छात्रों के साथ खेल के मैदान में एक खुली चर्चा आयोजित की गई।इस अवसर पर शोभित विश्वविद्यालय गंगोह के कुल सचिव प्रो. (डॉ.) महिपाल सिंह, नेनो पॉवर्टी पर चर्चा शुरू की। उन्होंने गरीबी उन्मूलन कार्यों में त्वरित निवेश का समर्थन करने के लिए, गरीब-समर्थक और लिंग-संवेदनशील विकास रण नीतियों के आधार पर, राष्ट्रीय, क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ध्वनि नीति ढांचे के निर्माण पर अपनी चर्चा पर जोर दिया। उन्होंने विकासशील देशों, विशेष रूप से सबसे कम विकसित देशों के लिए सभी आयामों में गरीबी को समाप्त करने के लिए कार्यक्रमों और नीतियों को लागू करने के लिए पर्याप्त और अनुमानित साधन प्रदान करने के लिए, विभिन्न स्रोतों से संसाधनों की महत्वपूर्ण गतिशीलता सुनिश्चित करने का भी आह्वान किया, जिसमें विकास सहयोग भी शामिल है।

प्रमुख लोग रहे मौजूद

स्कूल के अन्य संकाय सदस्यों जैसे डॉ. शिवानी,डॉ. विकास और डॉ. वसीम ने भी छात्रों के साथ चर्चा की और अपनी राय साझा की।यह एक तरफा बातचीत नहीं थी।विद्यार्थियों ने भी बढ़-चढ़कर भाग लिया और अपने विचार साझा किए।छात्र पक्ष की ओर सेरिंकू सैनी, पीयूष शर्मा, पर्तिक कुमार, अभिषेक शर्मा, आर्यन, प्राची सैनी, रिया सैनी और यश त्यागी ने उक्त एसडीजी पर अपने विचार साझा किए।

Also Read: Delhi News: “पहले आओ पहले पाओ” की स्कीम पर दिल्ली में फ्लैट मिलने का सपना साकार, जारी होगा कब्जा पत्र

इस अवसर पर शोभित विश्वविद्यालय गंगोह के कुलपति प्रो. (डॉ.) रणजीत सिंह ने कहा कि राष्ट्र की सेवा करना एक पवित्र कार्य है, जो हमारे जीवन की अनेक राहों को सुदृढ़ बनता है।देश में जन्मे प्रत्येक व्यक्ति को राष्ट्रनिर्माण के प्रति समर्पण का भाव रखना ही सच्ची राष्ट्रसेवा है।राष्ट्र जैसे छोटे से शब्द में विशाल असीमित और बहु आयामी अर्थ और कर्तव्य बोध का सार समाहित हैं।देश के प्रत्येक नागरिक को अपने राष्ट्र प्रगति के लिए आवश्यक होता है,कि वह जिस दशा में है,जिस परिस्थिति में है जहां है,सकारात्मक सोच के साथ अपना योगदान दे।

Also Read: Education: अब EWS और OBC के छात्रों को प्रतियोगी परीक्षाओं के कोचिंग की नहीं भरनी होगी फीस, सरकार का बड़ा फैसला

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो पर सकते हैं।

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -

Latest Post

Latest News

- Advertisement -