Homeएजुकेशन & करिअरSpaceKidz India कक्षा 8वीं से 12वीं तक के छात्रों के लिए यंग...

SpaceKidz India कक्षा 8वीं से 12वीं तक के छात्रों के लिए यंग साइंटिस्ट इंडिया प्रतियोगिता का करवा रही है आयोजन

इसी साल फरवरी में SpaceKidz India नाम की एक स्पेस कंपनी ने सतीश धवन सैटेलाइट जिसपर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर लगी थी उसे अंतरिक्ष में भेजा था। SpaceKidz India 8वीं से 12वीं तक के छात्रों के लिए यंग साइंटिस्ट इंडिया प्रतियोगिता का आयोजन करवा रही है। आपको बता दे यह स्पेस कंपनी पिछले आठ सालों से यंग साइंटिस्ट इंडिया प्रतियोगिता का आयोजन करवाते आ रही है, इस प्रतियोगिता का मुख्य उद्देश्य है बच्चों के बीच विज्ञान के प्रति रुचि बढ़ाना। ताकि बच्चे आगे चलकर विज्ञान संबंधी करियर में अपना भविष्य बना सके।

Satish Dhawan Satellite is planned to be launched by ISRO onboard the  PSLV-C51 rocket on 28th February | Space Kidz India

इस प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए छात्रों से किसी तरह की कोई फीस नहीं ली जाती है, हर एक विजयी छात्र को पुरस्कार दिए जाते हैं। इस प्रतियोगिता को आयोजित करवाने में नीति आयोग, अटल इनोवेशन मिशन और हैक्सावेयर भी सहायता करते है। इस प्रतियोगिता की जानकारी SpaceKidz India ने अपने ट्विटर अकाउंट से दी, उन्होंने ट्वीट कर पूरी प्रतियोगिता की जानकारी प्रदान की।

यह भी पढ़े- भगवा वस्त्रधारी संतों को “चिलमजीवी” कहना अखिलेश यादव को पड़ा महंगा

SpaceKidz India की सीईओ डॉ. श्रीमती केसन ने जानकारी दी कि जो भी बच्चा यह प्रतियोगिता जीतता है उसे 50 हजार रुपयों का कैश प्राइस दिया जाएगा, जो बच्चा दूसरे स्थान पर रहेगा उसे 30 हजार रुपयों की इनाम राशी दी जाएगी इसके अलावा जो बच्चा तीसरे स्थान पर रहेगा उसे 10 हजार रुपयों का कैश प्राइज दिया जाएगा। डॉ. श्रीमती केसन ने बताया कि इस प्रतियोगिता को आयोजित करवाने के लिए नीति आयोग और अटल इनोवेशन मिशन के तहत सरकार हमारी सहायता करती आई है, इसके अलावा हेक्सावेयर कंपनी विजयी बच्चों की विज्ञान में करियर बनाने में मदद करती है।

India's student-built SD SAT to carry Bhagavad Gita, PM Modi's photo to  space

आपको बता दे इस प्रतियोगिता को कुल पांच भागों में बांटा गया है, जिसमे कृषि, एप डेवलपमेंट, इलेक्ट्रॉनिक्स, रोबोटिक्स और स्पेस साइंस शामिल हैं। डॉ. श्रीमती केसन ने कहा कि जो भी बच्चे इन विभिन्न श्रेणियों को पार करने में सफल होते है, इसमें जीत हासिल करते है उन्हें सम्मानित किया जाएगा और उनकी आगे पढ़ाई में सहायता प्रदान की जाएगी। देश का हर एक बच्चा जो कक्षा 8वीं से लेकर कक्षा 12वीं में पढ़ रहा है वह इस प्रतियोगिता में भाग ले सकता है।

SpaceKidz India द्वारा बनाए गए सैटेलाइट को इसी साल फरवरी में इसरो ने अपने रॉकेट के जरिए स्पेस में भेजा था। आपको बता दे जो सैटेलाइट स्पेस में भेजी गई वह एक नैनो सैटेलाइट है, यह सैटेलाइट ऊपर से पृथ्वी का चक्कर लगा रही है। यह स्पेस से धरती की संरचना, मौसम, संचार, चुंबकीय बहाव और रेडिएशन की जानकारी प्रदान करती है।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें।आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो पर सकते हैं

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest पोस्ट

Related News

- Advertisement -