Homeएंटरटेनमेंटपुण्यतिथि : धनी परिवार में जन्मे किशोर कुमार का बचपन से था...

पुण्यतिथि : धनी परिवार में जन्मे किशोर कुमार का बचपन से था एक ही सपना

आज हिंदी सिनेमा जगत के सबसे बड़े प्लेबैक सिंगर और हिंदी सिनेमा के गीतों को नयी पहचान देने वाले किशोर कुमार की आज 34वीं पुण्यतिथि है. 4 अगस्त 1929 को मध्य प्रदेश के खंडवा में जन्मे किशोर कुमार का असली नाम आभास कुमार गांगुली था। धनी परिवार में जन्मे किशोर कुमार का बचपन से एक ही सपना था। उनके पसंदीदा गायक केएल सहगल थे। किशोर हमेशा से उन्हीं की तरह बनना चाहते थेे। किशोर चार भाई-बहनों अशोक कुमार, सती देवी, अनूप कुमार में सबसे छोटे थे। अपनी एक पहचान बनाने के बाद हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में अपनी छांप छोड़ने के बाद किशोर कुमार का निधन 13 अक्टूबर 1987 में हुआ था।

किशोर कुमार भले ही मुंबई में आकर फेमस हुए हो. भले ही इस मायानगरी ने उन्हें एक नयी पहचान दी हो लेकिन उनका दिल और दिमाग उनके ही जन्म स्थान खंडवा में रमे रहे। एक इंटरव्यू में किशोर कुमार ने कहा था कि – कौन मूर्ख इस शहर में रहना चाहता है। यहां हर कोई दूसरे का इस्तेमाल करना चाहता है। कोई दोस्त नहीं है। किसी पर भरोसा नहीं कर सकते हैं। मैं इन सबसे दूर चला जाऊंगा। अपने शहर खंडवा में। इस बदसूरत शहर में भला कौन रहे। किशोर कुमार ने चार शादियां की थीं। किशोर कुमार की पहली पत्नी रूमा गुहा ठाकुरता थी। लेकिन शादी के 8 साल बाद उन्होंने अपनी पहली पत्नी तलाक ले लिया। इसके बाद उन्होंने 1960 में मधुबाला से शादी कर ली। हालांकि, गंभीर रूप से बीमार पड़ने के बाद 35 साल की उम्र में मधुबाला का देहांत हो गया था। मधुबाला की मौत के बाद किशोर कुमार की जिंदगी में योगिता बाली आईं और दोनों ने शादी कर लीं, लेकिन महज दो साल बाद योगिता से भी उनका रिश्ता टूट गया। इसके बाद किशोर कुमार ने साल 1980 में खुद से 20 साल छोटी लीना से शादी कर ली। 

ये भी पढ़े : मैं अपनी जिंदगी में बहुत ज्यादा ट्रोल हुई हूं – मोनालिसा

कहते हैं मौत से पहले उन्हें आभास हो गया था कि जल्दी ही वो दुनिया को अलविदा कहने वाले हैं। किशोर कुमार के बेटे अमित कुमार ने एक इंटरव्यू में कहा था कि – उस दिन उन्होंने सुमित (अमित का सौतेला भाई) को स्वीमिंग के लिए जाने से रोक दिया था और वो इस बात को लेकर भी काफी चिंतित थे कि कनाडा से मेरी फ्लाइट सही वक्त पर लैंड करेगी या नहीं। उन्हें हार्ट अटैक संबंधी कुछ लक्षण तो पहले से ही दिख रहे थे लेकिन एक दिन उन्होंने मजाक किया कि अगर हमने डॉक्टर को बुलाया तो उन्हें सच में हार्ट अटैक आ जाएगा और अगले ही पल उन्हें सच में अटैक आ गया। निधन के बाद किशोर कुमार का अंतिम संस्कार खंडवा में ही हुआ।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो पर सकते हैं.

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img

Latest पोस्ट

Related News

- Advertisement -spot_img