- विज्ञापन -

Latest Posts

Winter Health Tips: सर्दियों में बच्चों-बुजुर्गों में बढ़ जाता है निमोनिया का खतरा, बचाव के लिए इन बातों का रखें खास ध्यान

Health Tips: सर्दियों के मौसम में लोगों को अपनी सेहत का विशेष ध्यान रखने की जरूरत होती है इस दौरान जरा सी लापरवाही से कई भयंकर बीमारियों का शिकार बन सकते हैं। गिरते तापमान के साथ कई प्रकार की बीमारियां का खतरा बढ़ जाता है ऐसे में बच्चों और बुजुर्गों में निमोनिया होने का जोखिम अधिक होता है। इस गंभीर बीमारी से बचाव करते आवश्यक होता है।

बच्चे और बूढ़े बनते है शिकार

बता दें कि, निमोनिया वायरस बैक्टीरिया या कवक के कारण होने वाला संक्रमण है जो फेफड़ों को प्रभावित करता है। इसमें सांस लेने में दिक्कत होती है जिसके सही इलाज ना करने से इंसान की मौत भी हो सकती है। ऐसा माना जाता है कि इस बीमारी का सबसे ज्यादा शिकार बच्चे और बूढ़े होते हैं। शरीर में निमोनिया के वायरस फैलने से हमारा इम्यूनिटी सिस्टम भी कमजोर हो जाता है।

निमोनिया के लक्षण

निमोनिया के लक्षणों की बात करें तो, इसमें बलगम वाली खांसी लगातार बनी रहती है इसके साथ बुखार ठंड लगना, सांस की तकलीफ, सीने में दर्द जो सांस लेने या खासने पर और ज्यादा बढ़ जाता है। वही उल्टी और सर दर्द जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इसके साथ 5 साल से कम उम्र वाले बच्चों में तेज सांस या घरघराहट जैसी दिक्कतें देखने को मिलती है। वही बूढ़े लोगों में सांस की जटिलताओं का खतरा अधिक बढ़ जाता है।

Also Read: Heart Attack in winter: इन चीजों के सेवन से हार्ट अटैक के रिस्क को कर सकते हैं कम, सर्दियों में नसों को एक्टिव रखने…

निमोनिया के बचाव के लिए कई टीके उपलब्ध है इसके साथ निमोनिया होने पर रोगी को एंटीबायोटिक दवाई दी जाती है इन दवाओं का लगातार सेवन करने से रोगी ठीक हो जाता है। इसके साथ हेल्थ एक्सपर्ट का मानना है कि, फुल वैक्सीनेशन से इस संक्रमण से आप काफी हद तक बच सकते हैं। टीकाकरण के साथ सभी लोगों को निमोनिया से बचाव के उपाय करते रहना चाहिए।

इन बातों का रखें खास ध्यान

निमोनिया जैसी गंभीर बीमारी से बचने के लिए टीकाकरण के साथ इन बातों का ख्याल रखना भी काफी जरूरी है। कम से कम 20 सेकंड के लिए नियमित रूप से हाथों को साबुन से धोएं। छीकते और खासते वक्त मुंह को अच्छी तरह कवर कर ले इसके बाद हाथों को साबुन की सहायता से अच्छे से धोएं। यदि आप धूम्रपान आप करते हैं तो इसे तुरंत बंद करें।धूम्रपान से निमोनिया के होने का खतरा अधिक बढ़ जाता है। सर्दियों के मौसम में इम्यूनिटी बनाए रखने के लिए पौष्टिक आहार का भी सेवन करें।

Also Read: Uttarakhand: बर्फीली वादियों में डेस्टिनेशन वेडिंग का बढ़ा चलन, इन जगहों पर यादगार बन जाएगी आपकी शादी

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों को केवल सुझाव के रूप में लें, DNP INDIA न्यूज़ इनकी पुष्टि नहीं करता है। इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं

Latest Posts

देश

बिज़नेस

टेक

ऑटो

खेल