Homeख़ास खबरेंWest Bengal News: महीनों बाद स्कूल खुलने पर बच्चे की खुशी का...

West Bengal News: महीनों बाद स्कूल खुलने पर बच्चे की खुशी का नहीं रहा ठिकाना, टीचर ने जड़ा थप्पड़ तो पहुंचा ऑपरेशन थिएटर

पश्चिम बंगाल के हुगली जिले से एक चौंकाने वाली खबर आई है कि, आपको भी अपने बच्चे को लंबे अंतराल के बाद स्कूल दोबारा भेजने के लिए सोचना पड़ेगा। जहां उत्तरपाड़ा के अमरेंद्र विद्यापीठ में टीचर को छात्र की खुशी सही नहीं गई तो उन्होंने दसवीं के छात्र की कनपटी पर थप्पड़ जड़ दिया। छात्र 20 महीने बाद टिफिन ऑवर में टिफि‍न बजाकर स्कूल आने की खुशी मना रहा था। तभी छात्र के पास से गुजर रहे एक टीचर ने उसे जोरदार थप्पड़ मार दिया। हद तो तब हो गई जब छात्र स्कूल के प्रिंसिपल के पास अपनी शिकायत दर्ज कराके बाहर निकल रहा तो था तो गुस्से में तमतमाए शिक्षक ने दोबारा छात्र की कनपटी के नीचे थप्पड़ जड़ दिया। इस थप्पड़ के बाद छात्र को कान के नीचे काफी पीड़ा महसूस होने लगी। घर जाकर उसने अपने माता-पिता को अपनी आपबीती सुनाई जिसके बाद उसके माता-पिता उसे इलाज के लिए डॉक्टर के पास ले गए।

क्या है पूरा मामला ?

टीचर से थप्पड़ खाने के बाद छात्र डर गया। जब वो घर पहुंचा तो उसने माता-पिता को बताया कि उसके कान के नीचे बहुत ज्यादा दर्द हो रहा है। छात्र की बात सुनने के माता-पिता उसे इलाज के लिए डॉक्टर के पास ले गए। डॉक्टर ने फिलहाल छात्र को 6 से 8 हफ्ते के लिए ऑब्जर्वेशन में रखने का सुझाव दिया है जिसके बाद उसके कनपटी की सर्जरी करने की भी जरूरत पड़ सकती है। इस मामले के बाद पीड़ित छात्र के माता-पिता ने उत्तरपाड़ा थाने में केस दर्ज कराया है। इस घटना में अभियुक्त शिक्षक गौतम रूईदास में दसवीं कक्षा के छात्र सुभोजित मन्ना को दो बार कनपटी के नीचे थप्पड़ मारा। पहली बार थप्पड़ मारने के बाद पीड़ित छात्र जब स्कूल के प्रिंसिपल से मौखिक शिकायत दर्ज करने के बाद प्रिंसिपल के कक्ष से बाहर निकल रहा था तो दोबारा शिक्षक ने छात्र के कनपटी पर थप्पड़ जड़ दिया।

आरोपी टीचर ने क्या कुछ कहा ?

टीचर ने 10वीं कक्षा के छात्र को एक नहीं बल्कि दो बार जोरदार थप्पड़ मारा। पहली बार थप्पड़ मारने के बाद पीड़ित छात्र जब स्कूल के प्रिंसिपल से मौखिक शिकायत दर्ज करने के बाद प्रिंसिपल के कक्ष से बाहर निकल रहा था तो दोबारा शिक्षक ने छात्र के कनपटी पर थप्पड़ जड़ दिया। दूसरा थप्पड़ पड़ने के बाद छात्र को कान के आसपास झनझनाहट महसूस हुई और अचानक से बहुत तेज दर्द होने लगा। इस मामले में तथाकथित आरोपी शिक्षक ने बताया कि उनका संबंधित छात्र को थप्पड़ मारने का कोई इरादा नहीं था और न ही उस छात्र से उनकी कोई व्यक्तिगत शत्रुता है। उन्होंने सिर्फ अनुशासन पालन करने के लिए उससे कहा था और इसी दौरान हाथापाई में हो सकता है कि उसके कान के नीचे उनका हाथ लग गया हो। उन्होंने कहा कि छात्र सुभोजित मन्ना ने प्रिंसिपल से शिकायत करने के बाद बाहर निकलते हुए उन्हें लगभग धमकी देने की मुद्रा में कहा कि सर आपको देख लेंगे। बावजूद इसके यदि छात्र के कनपटी के नीचे कोई चोट लगी है तो इसके लिए वे काफी दुखी हैं।

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest पोस्ट

Related News

- Advertisement -