Homeख़ास खबरेंसुरक्षा एजेंसियों को 3 महीने पहले मिल गया था हत्याओं का इनपुट,...

सुरक्षा एजेंसियों को 3 महीने पहले मिल गया था हत्याओं का इनपुट, फिर कैसे हो गई चूक?

जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों ने 2 दिनों के भीतर पांच नागरिकों को मौत के घाट उतार दिया। कश्मीर में हुए आतंकी हमले में तीन नागरिकों की जान चली गई। इसके बाद घाटी में आम नागरिकों की सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े होने लगे हैं। स्थानीय प्रशासन से लेकर केंद्र सरकार हरकत में आ गई है और बैठकें करके आगे की रणनीति पर काम कर रही है। इस बीच जानकारी सामने आई है कि कश्मीर घाटी में नागरिकों को टारगेट बनाकर उनकी हत्या किए जाने के बारे में सुरक्षा एजेंसियों को तीन महीने से ही पहले मजबूत इनपुट थे। इसके अलावा, इन हमलों के पीछे पाकिस्तान का रोल भी सामने आया है।

मिली जानकारी के मुताबिक सुरक्षा एजेंसियों के पास इनपुट थे कि आतंकवादी तीन तरह के लोगों को निशाना बना रहे हैं- भाजपा/अपनी पार्टी और सहयोगी; अल्पसंख्यक कश्मीरी पंडित और सिख; और सरकार समर्थक आवाजें जिन्हें आतंकवादी सहयोगी कहते हैं। वहीं एक बड़े अधिकारी वे कहा, “हर किसी को सुरक्षा प्रदान नहीं की जा सकती है। आतंकवादी आसान लक्ष्य चुन रहे हैं। लेकिन अंततः, यह जम्मू-कश्मीर है जिसे आतंकवादियों को दूर रखने के लिए जवाबी हमले करने होंगे।”

यह भी पढ़े – भारत सरकार द्वारा की गई जवाबी कार्यवाही के सामने झुका ब्रिटेन, यूके जाने पर भारतीयों को नहीं होना होगा क्वारंटाइन

कश्मीर घाटी में हुई आतंकी वारदातों को लेकर अधिकारियों ने आगे कहा कि आतंकवादी ‘पैटर्न’ के आधार पर लोगों को निशाना बना रहे थे, और स्थिति अचानक गंभीर दिख रही थी। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘इसके साथ ही आतंकियों ने कश्मीर घाटी में रह रहे लोगों को आतंकित कर कश्मीरी पंडितों की वापसी को रोकने की कोशिश की है।

इन वारदातों में पाकिस्तान का भी रोल

दुनियाभर में आतंकी गतिविधियों को बढ़ाने की कोशिश के लिए कुख्यात पाकिस्तान का घाटी में हुए हमलों में भी रोल सामने आया है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तान स्थित आतंकवादी समूह जम्मू-कश्मीर में शांति भंग करने के लिए हाइब्रिड आतंकवादियों का इस्तेमाल कर रहे हैं। ये आतंकवादी ज्यादातर सामान्य नौकरियों में लगे हुए हैं और छोटे हथियारों का इस्तेमाल कर टारगेट हत्याओं के लिए आतंकवादी समूहों द्वारा इनका इस्तेमाल किया जाता है।

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img

Latest पोस्ट

Related News

- Advertisement -spot_img