Homeराज्यउत्तर प्रदेशपुलिस टीम ने घटनास्थल पर खंगाले सबूत, CCTV कैमरे को खंगाला, 12...

पुलिस टीम ने घटनास्थल पर खंगाले सबूत, CCTV कैमरे को खंगाला, 12 घंटे पूछताछ के बाद आशीष मिश्रा गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी का मामला जोर पकड़ता जा रहा है। लखीमपुर मामले में पुलिस बीते रविवार को मामले की जांच करने के लिए घटनास्थल पर पहुंची। पिछले रविवार को तिकुनिया इलाके में बीजेपी नेताओं, कार्यकर्ताओं और किसानों के बीच में हिंसक झड़प हो गई थी, जिसमें चार किसानों समेत आठ की मौत हो गई थी। वहीं, आशीष मिश्रा की पुलिस कस्टडी पर सोमवार को यानी आज लखीमपुर कोर्ट में सुनवाई होगी। पुलिस कोर्ट से आशीष की रिमांड की मांग करेगी।

घटनास्थल तिकुनिया कस्बे से केंद्रीय मंत्री का गांव चार किलोमीटर की दूरी पर है। रविवार दोपहर करीब 12:30 बजे टीम के साथ बनवीरपुर पहुंचे डीआईजी ने गांव में सड़क किनारे लगी बाजार का निरीक्षण किया और दुकानदारों से बातचीत की। उन्होंने कड़ियाडागा-बनवीरपुर के बीच के उस रास्ते का बारीकी से निरीक्षण किया, जिससे घटना वाले दिन आशीष मिश्र की गाड़ियों का काफिला गया था। उन्होंने गांव की एक दुकान पर लगा सीसीटीवी कैमरे का सीडीआर भी कब्जे में लिया। यह दुकान केंद्रीय मंत्री के घर से करीब तीन सौ मीटर दूरी पर है। उन्होंने केंद्रीय गृह राज्यमंत्री की राइस मिल को भी देखा।

आशीष मिश्र के बयानों को क्रॉस एग्जामिन करने के लिए डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल, सीओ गोला संजय नाथ तिवारी समेत पूरी टीम घटनास्थल पर मौजूद थे। घटना के बाद किसानों ने आरोप लगाया था कि आशीष मिश्रा की गाड़ी से ही किसानों का रौंदा गया। इसके बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव समेत विभिन्न विपक्षी दलों के नेताओं ने बीते दिना लखीमपुर खीरी का दौरा किया और मृतकों के परिजनों से मुलाकात की थी।

यह भी पढ़े – Lakhimpur Incident: बीएम सिंह ने योगी सरकार पर साधा निशाना, कहा- सरकार दोषियों को बचाने में लगी है

12 घंटे की पूछताछ के बाद आशीष गिरफ्तार

आशीष मिश्रा शनिवार को पूछताछ में शामिल होने के लिए पहुंचे थे, जहां पर उनसे 12 घंटे तक सवाल-जवाब किए गए। आखिकार पुलिस ने देर रात आशीष मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया था। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक आशीष 3 अक्टूबर को दिन में 2:36 से 3:30 बजे तक कहां था, इसका जवाब नहीं दे पाया। आशीष से शनिवार को सुबह 11 बजे से 6 लोगों की टीम ने पूछताछ की थी। इस दौरान आशीष से 40 सवाल पूछे गए।

काफिले में शामिल स्कॉर्पियो गायब

तिकुनिया कांड के काफिले में तीन गाड़ियां इस्तेमाल हुई है। इसमें एक थार, दूसरी फॉर्च्यूनर और तीसरी स्कॉर्पियो शामिल है। थार और फॉर्च्यूनर को भीड़ ने जला दिया। जबकि स्कॉर्पियो मौके से बचकर भाग निकली। थार केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के नाम पर रजिस्टर है। जबकि जली फॉर्च्यूनर के भी मालिक का पुलिस ने पता लगा लिया है। तीसरी गाड़ी भी उसी की बताई जा रही है जिसकी फॉर्च्यूनर है। पुलिस स्कॉर्पियो की तलाश कर रही है। अभी तक स्कॉर्पियो का भी कोई सुराग नहीं मिला है।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो पर सकते हैं.

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img

Latest पोस्ट

Related News

- Advertisement -spot_img