- विज्ञापन -

Latest Posts

Pandav Murder Case: अंजन दास हत्याकांड में हुआ नया खुलासा, सीसीटीवी फुटेज और डंप डेटा के जरिए टीम ने सुलझाई गुत्थी

Pandav Murder Case: दिल्ली के पांडव नगर में 6 महीने पहले हुए अंजन दास हत्याकांड के खुलासे में एक नया मोड़ सामने आया हैं। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने डंप डेटा का एनालिसिस कर मरने वाले अंजन दास की पहचान की थी। क्राइम ब्रांच का दावा है कि दोनों आरोपियों ने जब अपना गुनाह कबूल कर लिया। तब वे गिरफ्तार किए गए। अब सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में दोनों रात को शव के टुकड़े ठिकाने लगाते हुए नजर आए। क्राइम ब्रांच की सूत्रों की माने तो डंप डेटा के जरिए पहचान करने में सुराग हाथ लगा। पुलिस ने जब दोनों आरोपियों से पूछताछ की तो पहले इन्होंने कोई भी जानकारी देने से इंकार कर दिया।

परिजनों के डीएनए टेस्ट से हुआ खुलासा

पुलिस ने छानबीन में सीसीटीवी फुटेज के जरिए इस केस को आगे बढ़ाया और दोनों आरोपियों की लोकेशन का हवाला देकर सख्ती से पूछताछ की और उन्होंने हत्या की बात भी स्वीकार की। बता दे कि अंजन की लाश के मिले टुकड़ों का बिहार में रह रहे उसके परिवार के सदस्यों से डीएनए मैच कराया गया, ताकि पुष्टि की जा सके कि जो लाश के टुकड़े बरामद हुए वह अंजन दास के ही थे। क्राइम ब्रांच के स्पेशल सीपी रविंद्र यादव का कहना है कि इस साल 5 जून को पांडव नगर थाने को रामलीला ग्राउंड में शव के टुकड़े पड़े होने की सूचना मिली थी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर सफेद रंग की दो पॉलिथीन बैग बरामद की।

पॉलिथीन बैग से बरामद हुए शरीर के टुकड़े

पुलिस ने बताया कि पॉलिथीन बैग को खोला गया तो इसमें एक में पैर के घुटने के नीचे का हिस्सा और दूसरे में जांघ वाला हिस्सा मिला था। मौके पर क्राइम ब्रांच और एफएसएल की टीम ने जांच शुरू की। इसके कई दिन बाद रामलीला ग्राउंड और जंगल में लाश के टुकड़े मिलने का सिलसिला जारी रहा। पांडव नगर थाने में हत्या और सबूत मिटाने की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया। इसके बाद पुलिस को सिर एक प्लास्टिक बैग से बरामद हुआ।

Also Read- CUSTARD APPLE BENEFITS: सर्दियों में इन 5 समस्याओं के लिए रामबाण है शरीफा, आज ही करें डाइट में शामिल

पुलिस ने आसपास के सीसीटीवी कैमरे की फुटेज कंगाली तो उसमें 31 मई और 1 जून की रात एक महिला और एक युवक प्लास्टिक बैग के साथ रामलीला मैदान की ओर जाते हुए नजर आए 1 जून को दिन में भी इस महिला को जाते हुए देखा गया था पुलिस ने दिल्ली-एनसीआर में लापता हुए लोगों का रिकॉर्ड निकाला लेकिन कहीं भी कोई गुमशुदगी या सुराग बरामद नहीं हुआ।

Also Read- WINTER DIET TIPS: सर्दियों में ना करें नानवेज का सेवन, मोटापे के साथ इन दिक्कतों का करना पड़ेगा सामना

गिरफ्तार हुए दोनों आरोपी

लोकल छानबीन में टीम को पता चला कि 5 महीने से अंजन दास नाम का शख्स लापता है और परिजनों ने भी उसकी गुमशुदगी की कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई। इस बात का पता चलते ही पुलिस को सीसीटीवी के बाद पहली लीड मिली थी। टीम अंजन के त्रिलोकपुरी वाले पते पर पहुंची। जहां उसकी पत्नी पूनम और उसके बेटे से पूछताछ की और दोनों के बयानों में विरोधाभास सा लगा। पुलिस ने जब दोनों से सख्ती से पूछताछ की तो इस हत्याकांड का पर्दाफाश हुआ।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं

Latest Posts

देश

बिज़नेस

टेक

ऑटो

खेल