- विज्ञापन -

Latest Posts

Rajasthan Politics: CM अशोक गहलोत का बड़ा बयान, कहा-अगस्त में ही की थी सोनिया गांधी से इस्तीफे की पेशकश

Rajasthan Politics: कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद की दौड़ में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का नाम सबसे आगे हैं। वहीं दूसरी ओर ख़बर है कि कांग्रेस राजस्थान में नए मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा कभी भी कर सकती है। ऐसे में राजस्थान से लेकर दिल्ली तक सियासी सरगर्मी तेज है। राजस्थान में विधायक दल की बैठक से पहले अशोक गहलोत कैंप के करीब 56 विधायक के शांति धारीवाल के घर पहुंचने की ख़बर सामने आई है। धारीवाल को अशोक गहलोत का सबसे करीबी बताया जाता है। राजनीतिक जानकारों के मुताबिक कांग्रेस विधायक दल की बैठक से पहले हो रही इस मुलाकात अहम है। अटकलें लगाई जा रही हैं कि यह बैठक अशोक गहलोत अपने खेमे से एक नाम को मुख्यमंत्री पद के लिए आगे करने को लेकर कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि इसे लेकर उन्होंने प्रस्ताव भी पारित किया है।

अगस्त में ही की थी सोनिया गांधी से इस्तीफे की पेशकश- अशोक गहलोत

वहीं इस सबके बीच मुख्यमंत्री की कुर्सी का मोह नहीं छोड़ नहीं पा रहे अशोक गहलोत का बड़ा बयान सामने आया है। अशोक गहलोत ने कहा है कि मैंने तो अगस्त में ही सोनिया गांधी से अपने इस्तीफे की पेशकश की थी। गहलोत ने आगे कहा कि राजस्थान से मेरा अटूट प्रेम है और हमेशा रहेगा। इस दौरान पत्रकार द्वारा गहलोत से दिल्ली जाने के सवाल पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि मुझे कांग्रेस ने बहुत कुछ दिया है, अब नई पीढ़ी को भी मौका मिलना चाहिए।

Also Read: विधानसभा सत्र को मंजूरी मिलने के बाद राज्यपाल और मुख्यमंत्री के बीच खत्म हुआ विवाद, पत्र लिखकर कहा ‘आप मुझसे नाराज हैं’

सचिन पायलट को झटके की तैयारी

सूत्रों के मानें तो अशोक गहलोत किसी भी सूरत में सचिन पायलट को राजस्थान के मुख्यमंत्री के रूप में नहीं देखना चाहते हैं। इसके लिए वह तमाम तरह की जोड़-जुगत भी लगाने में जुटे हैं। यह भी बताया जा रहा है कि अशोक गहलोत गुट के कई विधायक विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी को मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोविंद डोटासरा को उप मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं। लिहाजा इसके लिए अशोक गहलोत कई फॉर्मूला भी आजमा रहे हैं। बता दें कि राजस्थान में जबर्दस्त सियासी घमासान मचा हुआ है। अशोक गहलोत कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद की रेस में हैं। वहीं उनके समर्थक विधायक सचिन पायलट को झटका देने की तैयारी में जुटे हुए हैं। सूत्रों के मुताबिक यह समर्थक नहीं चाहते कि नए मुख्यमंत्री का नाम उन लोगों में से निकले, जिन्होंने जुलाई 2020 में गहलोत के खिलाफ बगावत की थी। जानकारी के मुताबिक अशोक गहलोत के समर्थक विधायक मंत्री शांति कुमार धारीवाल के आवास पर जुटे हुए हैं। बहरहाल देखने वाली बात होगी कि राजस्थान का नया मुख्यमंत्री कौन बनता है या फिर अशोक गहलोत ही मुख्यमंत्री के पद पर बने रहते हैं।

Also Read: Shani Dev Puja: महिलाओं के लिए शनिदेव की पूजा के नियम, भूलकर भी ना करें ये गलती

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो पर सकते हैं।

Latest Posts

देश

बिज़नेस

टेक

ऑटो

खेल