Homeख़ास खबरेंSupreme Court: सुप्रीम कोर्ट इन अहम मुद्दों पर देगा अपना फैसला, मैरिटल...

Supreme Court: सुप्रीम कोर्ट इन अहम मुद्दों पर देगा अपना फैसला, मैरिटल रेप और कॉमन ड्रेस कोड के मामलों पर होगी सुनवाई

Supreme Court: सुप्रीम कोर्ट में आज अहम मामलों पर सुनवाई होगी। मेटेरियल रेप केस में 11 मई को दिल्ली हाईकोर्ट के दो जजों ने अलग-अलग फैसले किए थे। जिसके बाद यह मामला सुप्रीम कोर्ट में पहुंचा। शीर्ष अदालत अब तय करेगी कि पति-पत्नी के बीच जबरन यौन संबंध में माना जाएगा या नहीं। सुप्रीम कोर्ट के इस मामले पर देश भर की निगाहें टिकी हुई है। मेटेरियल रेप के साथ-साथ कई अहम मुद्दों पर आज सुनवाई होगी।

इन मुद्दों पर होगी सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट में आज जिन मामलों पर सुनवाई की जा रही है उनमें मेटेरियल रेप केस, पालघर साधु हत्याकांड, यूक्रेन के भारतीय मेडिकल छात्रों का मामला और केंद्र राज्यों के मान्यता प्राप्त स्कूलों के लिए कॉमन ड्रेस कोड का मामला शामिल है। पालघर साधु हत्याकांड मामले में सीबीआई जांच करेगी या नहीं इसे लेकर सुप्रीम कोर्ट अपना फैसला देने वाला है। 16 अप्रैल 2020 को महाराष्ट्र के पालघर में जूना अखाड़े के दो साधुओं की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। इस घटना का एक वीडियो भी सामने आया था। जिसमें देखा गया कि महंत कल्पवृक्ष गिरी जान बचाने के लिए एक एक पुलिसकर्मी का हाथ पकड़कर चल रहा था। लेकिन पुलिस वाले ने साधु का हाथ छोड़ कर उसे भीड़ के हवाले कर दिया।

Also Read: Rajasthan News: राजस्थान में घिरे सियासी संकट के बादल, गहलोत और पायलट गुट के बीच तकरार जारी

कॉमन ड्रेस कोड का मामला

सुप्रीम कोर्ट के वकील अश्वनी उपाध्याय के 18 वर्षीय बेटे और लॉ स्टूडेंट निखिल उपाध्याय ने कोर्ट में याचिका दाखिल कर केंद्र और राज्य सरकार के सभी मान्यता प्राप्त स्कूलों के लिए कॉमन ड्रेस कोड की मांग की है। याचिका में कहा गया कि कॉमन ड्रेस कोड से छात्रों में समानता, सामाजिक एकता और राष्ट्रीय एकता की भावना जागृत होगी।

यूक्रेन में पढ़ने वाले भारतीय मेडिकल छात्रों का मामला

फरवरी महीने से शुरू हुए रूस और यूक्रेन का युद्ध अभी तक जारी है। रूस पर आक्रमण शुरू होने के बाद से भारत समेत कई देशों के मेडिकल छात्र अपने देश वापस आ गए थे। ऐसे में अब भारतीय छात्र अपने देश में ही मेडिकल कॉलेजों में दाखिला लेने की मांग कर रहे हैं। इस मुद्दे पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी कानून के मुताबिक इन छात्रों को दाखिला दे पाना संभव नहीं है छात्रों को लेकर कहा जा रहा है कि उन्हें ऐसी व्यवस्था के बारे में बताया गया है कि यूक्रेन के कॉलेज से सहमति लेकर वह किसी और देश में अपनी पढ़ाई पूरी कर सकते हैं।

Also Read: Aap vs BJP: भाजपा सांसद 5 साल से झूठ फैला रहे थे कि कूड़े के पहाड़ खत्म कर दिए, जबकि वह और फैल गए…

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो पर सकते हैं।

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -

Latest Post

Latest News

- Advertisement -