Homeख़ास खबरें68 साल बाद वापस टाटा ग्रुप की हुई एयर इंडिया, 18,000 करोड़...

68 साल बाद वापस टाटा ग्रुप की हुई एयर इंडिया, 18,000 करोड़ रुपये की बोली लगाकर खरीदा

दशकों से राष्ट्रीय वाहक के रूप में उड़ान भरने के बाद एयर इंडिया अब टाटा समूह के लिए अपनी सेवाएं देगी। निवेश और सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) सचिव, तुहिन कांता पांडे ने आज इसकी घोषणा की है।

दशकों से राष्ट्रीय वाहक के रूप में उड़ान भरने के बाद एयर इंडिया अब टाटा समूह के लिए अपनी सेवाएं देगी। निवेश और सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) सचिव, तुहिन कांता पांडे ने आज इसकी घोषणा की है। सरकार ने शुक्रवार को टाटा समूह को एयर इंडिया के लिए सबसे ज्यादा बोली लगाने वाला विजेता घोषित किया है। सबसे खास बात ये कि साल 1953 में भारत द्वारा अपनी निजी एयरलाइनों का राष्ट्रीयकरण करने के ठीक 68 साल बाद अब एयर इंडिया वापस कैश-स्ट्रैप्ड महाराजा के संस्थापक टाटा समूह के पास पहुंच गई हैं।


स्पाइसजेट के अजय सिंह को भी पछाड़ा

टाटा की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी टैलेस प्राइवेट लिमिटेड ने 18,000 करोड़ रुपये की उद्यम मूल्य (ईवी) बोली लगाई, जिसमें कर्ज 15,300 करोड़ रुपये और नकद घटक 2,700 करोड़ रुपये था। इससे पहले  स्पाइसजेट के अजय सिंह के नेतृत्व वाले कंसोर्टिया ने उद्यम मूल्य (ईवी) की बोली 15,100 करोड़ रुपये लगाई थी जिसमें कर्ज 12,835 करोड़ रुपये और नकद घटक 2,265 करोड़ रुपये था। 18,000 करोड़ रुपये की बोली लगाकर टाटा ने 68 साल बाद एयर इंडिया पर अपना स्वामित्व पा लिया। दीपम सचिव ने कहा कि टाटा संस वर्तमान में एयर इंडिया के खाते में कुल 15,000 करोड़ रुपये का कर्ज लेगी। इसके बाद एयर इंडिया पर 46,262 करोड़ रुपये का कर्ज हो जाएगा, जिसे एआईएएचएल अपने ऊपर ले लेगा।

यह भी पढ़े: क्या फिर टाटा की होगी एयर इंडिया? जानिए कैसे बनी थी प्राइवेट से सरकारी कंपनी

अब टाटा के पास हैं दो एयरलाइंस

टाटा संस को एयर इंडिया का पूरा हैंडओवर दिसंबर 2021 के आसपास होगा। दीपम सचिव ने कहा कि इस साल दिसंबर तक सरकार विचार करेगी और शेयरों को टाटा संस को हस्तांतरित कर दिया जाएगा। दीपम सचिव ने कहा कि करदाताओं ने 2009-10 से एयर इंडिया में 1,10,276 करोड़ रुपये डाले हैं। उन्होंने कहा कि सौदे से भारत सरकार को 2,700 करोड़ रुपये नकद मिलेंगे, शेष 15,300 रुपये टाटा संस द्वारा लिया जाएगा। इसके अलावा एआईएएचएल एयर इंडिया से 46,262 करोड़ रुपये का कर्ज और 14,718 करोड़ रुपये की संपत्ति का अधिग्रहण करेगी। टाटा अब अपने एयरलाइन व्यवसाय को मजबूत करने जा रहे हैं क्योंकि उनके पास अब दो बजट एयरलाइंस हैं एक एआई एक्सप्रेस और दूसरी एयरएशिया इंडिया।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKTWITTER और INSTAGRAM पर भी फॉलो पर सकते हैं।

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img

Latest पोस्ट

Related News

- Advertisement -spot_img