- विज्ञापन -

Latest Posts

सरकार ने खत्म की Air Suvidha Form की अनिवार्यता, विदेशों से आ रहे यात्रियों के लिए होंगे नए नियम

Air Suvidha Form: सोमवार को सरकार ने अंतरराष्ट्रीय यात्रियों को लेकर एक बड़ा फैसला लिया है। सरकार ने देश में कोरोना वायरस के मामलों में घटत होने के बाद से अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए ‘एयर सुविधा’ फॉर्म भरने की अनिवार्यता को पूर्ण रूप से खत्म करने का फैसला लिया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अधिसूचना जारी की थी। उस अधिसूचना के अनुसार, 22 नवंबर से अंतरराष्ट्रीय आगमन के लिए संशोधित दिशा-निर्देश प्रभावी हो गए हैं।

सफर से लौटे यात्रियों ने कही ये बात

सरकार के इस फैसले के बाद से अंतरराष्ट्रीय यात्रियों को कागजी कार्रवाई से थोड़ी राहत मिलेगी। इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर सफर करके आए एक यात्री ने कहा “एयर सुविधा के फॉर्म भरवाने आवश्यकता खत्म होने के बाद अब यात्रा कुछ आसान हो गयी है।” शारजाह से दिल्ली लौटे हीरा सिंह ने कहा कि “कोविड की स्थिति में पहले से सुधार आया है। अब ज्यादा पेपर वर्क्स के लिए नहीं बोला जाता है। पहले की तुलना में अब यात्रा काफी ज्यादा आसान हो गयी है। इसके साथ ही बाली से लौटे अविनाश श्रीखंडे ने कहा कि ” यात्रियों के लिए अब एक्सिट आसान हो गयी है। इससे पहले डॉक्यूमेंटेशन वर्क काफी ज्यादा होता था।”

Must Read: Gujarat Election 2022: नवसारी में बोले पीएम मोदी, कहा- ‘गुजरात इस बार सारे पुराने रिकॉर्ड तोड़ने जा रहा है’

यात्रियों को पहले भरना होता था ‘एयर सुविधा’ फॉर्म

जानकारी के लिए बता दें कि इससे पहले दिशा-निर्देशों के अनुसार विदेश से भारत आने वाले यात्रियों को ‘एयर सुविधा’ फॉर्म भरना जरूरी होता था। कोविड को मध्यनजर रखते हुए इस फॉर्म की शुरुआत की गयी थी। स्वास्थ्य मंत्रालय के नए दिशा-निर्देशों के मुताबिक हवाई यात्रियों को अपने देश में कोरोना के खिलाफ टीकाकरण के चल रहे अभियान के अनुसार टीका लगवाना जरूरी है। जारी किये गए दिशा-निर्देशों के अनुसार यात्रियों को आगमन पर शारीरिक दूरी सुनिश्चित करनी चाहिए। दिशा-निर्देशों में यह कहा गया है कि “जांच के दौरान कोरोना के लक्षण पाए जाने पर यात्रियों को तुरंत अलग कर दिया जायेगा। इसके बाद उन्हें स्वास्थ्य प्रोटोकॉल के तहत निर्दिष्ट चिकित्सा केंद्र में ले जाया जायेगा। कोविड महामारी को मध्यनजर रखते हुए निर्धारित घरेलू उड़ान सेवाओं को 25 मार्च, 2020 से दो महीने के लिए स्थगित कर दिया गया था। निर्धारित अंतरराष्ट्रीय उड़ान सेवाओं को भी उसी दिन से स्थगित कर दिया गया था। ये उड़ान इस साल 27 मार्च से बहाल की गयी थी।

Must Read: Anti Conversion Law: शिवराज सरकार करेगी सुप्रीम कोर्ट का रुख, मध्य प्रदेश हाई कोर्ट के आदेश के खिलाफ दायर की जाएगी याचिका

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं

Latest Posts

देश

बिज़नेस

टेक

ऑटो

खेल