Homeपॉलिटिक्सकृषि कानूनों की वापसी के बाद प्रियंका गांधी का PM को पत्र,...

कृषि कानूनों की वापसी के बाद प्रियंका गांधी का PM को पत्र, लखीमपुर खीरी कांड में पीड़ितों को न्याय दिलाने की मांग की

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सबसे पहले केंद्र सरकार के द्वारा तीन कृषि कानूनों को वापस लेने की फैसले को स्वागत किया है. लेकिन इसके साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को चिट्ठी लिखकर लखीमपुर खीरी कांड में पीड़ितों को न्याय दिलाने की मांग की है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन कृषि कानूनों को शुक्रवार को वापस ले लिया. इस ऐलान के बाद से ही देश में एक तरफ जहां किसानों में खुशी का माहौल है वहीं दूसरी ओर इसपर राजनीतिक दलों के बीच सियासत जारी है. इन सबके के बीच कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सबसे पहले केंद्र सरकार के द्वारा तीन कृषि कानूनों को वापस लेने की फैसले को स्वागत किया है. लेकिन इसके साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को चिट्ठी लिखकर लखीमपुर खीरी कांड में पीड़ितों को न्याय दिलाने की मांग की है. प्रियंका ने लखीमपुर कांड में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे को बचाने और राजनीतिक संरक्षण देने का सरकार पर आरोप लगाया है.

गौरतलब है कि तीन अक्टूबर को उत्तर प्रदेश के लखीमपुर-खीरी जिले में तिकोनिया-बनबीरपुर रोड पर उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के दौरे से पहले भड़की हिंसा में चार किसान समेत आठ लोगों की मौत हो गई. केशव प्रसाद मौर्य के दौरे के दौरान किसान कृषि विरोधी कानूनों का विरोध कर रहे थे.

तभी अचानक एक एसयूवी कार ने किसानों को कुचल डाला. इसके बाद इलाके में हिंसा भड़क गई. दोनों एसयूवी केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र के काफिले की बतायी जा रही हैं. हादसे से भड़के किसानों ने सड़क पर जमकर बवाल किया और एसयूवी कार के ड्राइवर को पीट-पीटकर मार डाला था.

आशीष मिश्रा मोनू और मोनू के दोस्त के असहले से फायरिंग की पुष्टि

गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी हिंसा में चार किसान सहित आठ लोगों की मौत के मामले में केस की जांच की प्रगति से सुप्रीम कोर्ट के नाराजगी जताने के बीच में फॉरेंसिक लैब की रिपोर्ट भी आ गई है. इस रिपोर्ट में हिंसा के दौरान केस के मुख्य आरोपी केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के पुत्र आशीष मिश्रा मोनू और मोनू के दोस्त के असहले से फायरिंग की पुष्टि हो गई है. रिपोर्ट में बताया गया है कि आशीष मिश्रा की राइफल व रिवॉल्वर और अंकित दास की रिपीटर गन व पिस्टल से उस दौरान फायरिंग की गई थी. आपको बता दें कि आशीष मिश्रा और अंकित इस समय लखीमपुर खीरी के जिला जेल मे बंद हैं.

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें।आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो पर सकते हैं.

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest पोस्ट

Related News

- Advertisement -