- विज्ञापन -

Latest Posts

Chanakya Niti: यह काम करने के बाद महिलाओं को मिलती है पवित्रता, जानें क्या कहते हैं आचार्य चाणक्य

Chanakya Niti: आचार्य चाणक्य एक बहुत बड़े नीतिकार, सलाहकार और अर्थशास्त्री थे। आचार्य सभी के लिए मार्गदर्शक भी थे। बड़े-बड़े राजा महाराजा आचार्य से सलाह लिया करते थे और अपने प्रजा पर राज किया करते थे।

आपको बता दें, आचार्य चाणक्य ने महिला और पुरुष के चरित्र पर चित्रण किया है। इसके अलावा पति पत्नी के संबंध पर भी इनके द्वारा व्याख्या किया गया है। इसके साथ आचार्य ने स्त्री की पवित्रता पर भी कई सारी बातों को उल्लेख किया है। इन्होंने बताया है कि स्त्री कोई भी काम कर ले वो पवित्र नहीं हो सकती है। पत्नी को शुद्धता और मोक्ष पति के चरणों में ही मिलता है। तो आइए विस्तार से जानते हैं आचार्य किन बातों का उल्लेख किए हैं।

इन 3 कामों को करने से महिलाएं नहीं होती शुद्ध

1. दान पुण्य करने से

आचार्य चाणक्य कहते हैं महिलाओं का मन दान पुण्य करने में ज्यादा लगा रहता है। लेकिन दान पुण्य करने से महिलाओं को शुद्धता नहीं मिलती है। इसके अलावा इन्हें इससे मोक्ष की प्राप्ति भी नहीं हो सकती है।

2. सैकड़ों उपवास करने से

आचार्य चाणक्य कहते हैं महिलाओं का मन पूजा पाठ और उपवास में अधिक लगा रहता है। लेकिन महिलाओं को शुद्धता इससे नहीं मिलती है। महिलाएं कितने भी पूजा पाठ कर लें इन्हें इससे मोक्ष प्राप्त नहीं हो सकता है।

3. तीर्थ यात्रा करने से

आचार्य चाणक्य कहते हैं महिलाओं का मन तीर्थ यात्रा में अधिक लगता है। वो अक्सर तीर्थ यात्रा पर जाती रहती हैं। मगर उन्हें इससे भी किसी भी प्रकार की शुद्धता नहीं मिलती है। इससे न उन्हें मोक्ष प्राप्त होता है।

Also Read: How To Wash Quilt Blanket: अब लाउंड्री के लिए नहीं होंगे पैसे खर्च, सर्दियों में इन 3 स्टेप से साफ करें कम्बल और रजाई

पति की सेवा से मिलता है मोक्ष

आचार्य चाणक्य कहते हैं कोई भी महिला पति के चरणों की सेवा से ही शुद्ध होती है। आपको बता दें, जो महिला अपने पति की सेवा नहीं करती है उसे कुछ भी करने से मोक्ष प्राप्त नहीं होता है। महिला को मोक्ष प्राप्त तभी होता है जब वो अपने पति के सेवा में लीन रहती हैं। पति का सेवा करना सभी धार्मिक कार्यों के बराबर है। एक महिला के लिए उसका सर्वप्रथम कर्तव्य उसका पति ही है। उसी के सेवा से पत्नी को मोक्ष प्राप्त हो सकता है।

क्या निकलता है इस नीति से निष्कर्ष

आचार्य चाणक्य कहते हैं महिलाओं को अपनी पत्नी होने का कर्तव्य निभाना चाहिए। इससे वो शुद्ध होती है और इन्हें मोक्ष भी प्राप्त होता है। सभी महिलाएं मोक्ष प्राप्त करने के लिए बहुत कुछ करती हैं। लेकिन महिलाओं को मोक्ष पति के चरणों की सेवा से ही मिलता है।

Also Read: Winter Diet Tips: सर्दियों में ना करें नानवेज का सेवन, मोटापे के साथ इन दिक्कतों का करना पड़ेगा सामना

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं

Latest Posts

देश

बिज़नेस

टेक

ऑटो

खेल