Homeलाइफ़स्टाइलParents-Child Relationship: छोटी उम्र में बच्चों के अफेयर को माता-पिता गुस्से से...

Parents-Child Relationship: छोटी उम्र में बच्चों के अफेयर को माता-पिता गुस्से से नहीं, इस तरह से करें डील, शेयर करेंगे बच्चे दिल की बात

Parents -Child Relationship: हम जिस समाज में रहते हैं वहां पर बच्चों का अफेयर मां-बप के लिए बड़ी परेशानी का सबब बन जाता है। भारतीय पेरेंट्स इस बात को हजम नहीं कर पाती हैं कि उनके बच्चे का किसी के साथ अफेयर चल रहा है। चाहे वह लड़का हो या लड़की हो और यह बात तब और हजम नहीं होती अगर बच्चा टीनेज में हो। पेरेंट्स जज्बात में आकर बच्चों के साथ बुरा व्यवहार करने लगते हैं। कई पेरेंट्स तो इस कदर बच्चों पर हावी हो जाते हैं कि उनका बाहर निकलना यहां तक की पढ़ाई लिखाई तक बंद करवा देते है। हर वक्त बच्चों को कड़ी निगरानी में रखते हैं। इन सभी पाबंदियों से बच्चे या तो फ्रूस्टेट हो जाते हैं या तो फिर इतना ज्यादा डर जाते हैं कि वह कोई भी बात अपने माता-पिता से शेयर ही नहीं करना चाहते।

कई बार तो ऐसे भी मामले सामने आए हैं कि जब मां-बाप बच्चों पर सख्ती करते हैं तो बच्चे कुछ ऐसा गलत कदम उठा लेते हैं। जैसे बेंगलुरु से एक मामला सामने आया था जहां पर पिता को जब बेटी के अफेयर के बारे में पता चलता है तो उसकी पिटाई करते हैं और उसको कैद कर लेते हैं इन सब से परेशान बेटी अपने ही पिता का मर्डर कर देती है।

Also Read: Astrology: अगर आपके हाथ में भी है ये रेखा तो बदलने वाली है आपकी भी किस्मत             

ऐसे में आइए जानते हैं टीनेज लव और रिलेशनशिप को माता-पिता को कैसे डील करना चाहिए

टीनेज ऐसी अवस्था होती है कि आप बच्चों को डरा धमका कर मारपीट कर अपनी बात नहीं मनवा सकते हैं। ऐसा करने पर परिस्थितियां खराब हो सकती। जरूरी है कि मां बाप अपने बच्चे को समझें और उन्हें प्यार से चीजों को समझाएं अगर आप चाहते हैं कि आपका बच्चा आपसे हर बात को खुलकर शेयर करें तो जरूरी है कि आप उसे एहसास दिलाएं कि आप दोनों एक ही टीम में है।

जब आप अपने बच्चे से माता पिता बन कर बात करते हैं तो इस स्थिति में आपका बच्चा आपसे कई चीजें छुपा सकता है कई बार जब माता-पिता को बच्चे के रिलेशनशिप के बारे में पता चलता है तो उनके दिमाग में कई तरह की बातें आती हैं। जैसे यह सब कैसे हो गया, उसकी यह सब करने की हिम्मत कैसे हुई, लोग क्या कहेंगे ?तुमने हमारे परिवार का नाम बदनाम कर दिया।

इस तरह के खयाल लाने से बचें। ऐसे खयाल आने से मां-बाप को काफी गुस्सा आता है। और फिर मां बाप बच्चों को कंट्रोल करना शुरू कर देती है। इस तरह के बर्ताव से पेरेंट्स कहीं ना कहीं बच्चों को खुद से दूर कर देते हैं।जिससे माता-पिता से हर काम छुपाकर करना शुरू कर देता है।

अपने बच्चों के साथ दोस्तों जैसा रिश्ता बनाएं

बच्चे के रिलेशनशिप को दें मंजूरी: जब मां-बाप को बच्चे के रिलेशनशिप के बारे में पता चलता है तो उनके लिए बच्चे के रिलेशनशिप को मंजूरी देना काफी मुश्किल होता है ऐसे में सीधा इंकार करने की बजाय आप यह चीजें कर सकते हैं जैसे,

अगर आप अपने बच्चे के रिलेशनशिप को लेकर परेशान है तो इसके लिए आप किसी अपने करीबी दोस्त से बात करें शेयर करें।जिससे आपका मन हल्का होगा और आपको कुछ अच्छा सोचने की हिम्मत मिलेगी।

सबसे पहले अपने दिमाग को शांत करें ताकि आप चीजों को लेकर शांति से सूझबूझ से सोच सके। क्योंकि अचानक से लिया गया फैसला सिर्फ बर्बादी ही लाता है।

रिलेशनशिप के बारे में पता लगने के बाद जरूरी है कि आप इस बारे में सीधा बच्चे पर गुस्सा करने की बजाय अपने पार्टनर से बात करें।

अपने बच्चे की फीलिंग को समझें, माता पिता होने के नाते आपको बच्चे के शरीर में प्यूबर्टी के दौरान होने वाले बदलाव को समझना काफी जरूरी होता है।आमतौर पर लोग प्यूबर्टी के दौरान बच्चे के शरीर में होने वाले फिजिकल बदलावों के बारे में तो सब कुछ जानते हैं लेकिन इमोशनल बदलावों से अनजान रहते हैं। ऐसे में जरूरी है कि आप अपने बच्चे की फीलिंग्स और इमोशन्स को समझें।

Also Read: Janmashtami 2022: भगवान श्री कृष्ण ने क्यों छोड़ा मथुरा, जानें ये रोचक रहस्य

किशोरावस्था में बच्चे अपने नए दोस्त बनाते हैं और नई-नई चीजों का अनुभव करना चाहते हैं। इस स्टेज में जरूरी है कि आप उन्हें माता-पिता बनकर नहीं बल्कि एक दोस्त की तरह ट्रीट करें।

आपको यह समझने की जरूरत है कि आपके बच्चे को अभी भी आपकी जरूरत है। लेकिन एक अलग तरीके से।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो पर सकते हैं

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -

Latest Post

Latest News

- Advertisement -