Tulsidas Jayanti 2022: संत तुलसीदास की प्रमुख रचनाएं, इस दिन का महत्व

Date:

Tulsidas Jayanti 2022: गोस्वामी तुलसीदास को तुलसीदास के नाम से जाना जाता हैं। वह एक महान हिंदू संत और एक अत्यधिक जानकार कवि थे। उनको कला और संस्कृति के क्षेत्र में याद किया जाता हैं। हिंदू के कैलेंडर के अनुसार तुलसीदास कवि का जन्म श्रावण के महीने में कृष्ण पक्ष की सप्तमी को हुआ था। ग्रेगोरियन कैलेंडर के अनुसार यह दिन जुलाई या अगस्त के महीने में आता हैं। इस साल तुलसीदास जयंती 4 अगस्त को पड़ रही है।

संत तुलसीदास का जन्म

तुलसीदास का जन्म उत्तर प्रदेश के बांदा जिले के राजपुरा में 1859 या 1532 ईसवी में हुआ था। उनके पिता का नाम आत्माराम शुक्ल दुबे और माता का नाम हुलसी था। ऐसा कहा जाता है कि तुलसीदास अपने जन्म के समय रोए नहीं थे और वह सभी 32 दांतो के साथ पैदा हुए थे। बचपन में उनका नाम तुलसीदास या रामबोला रखा गया था। तुलसीदास ने 12 पुस्तकें लिखी और सबसे प्रसिद्ध रामचरितमानस है। यह हिंदी में एक प्रमुख साहित्यिक कृति है और इसने भाषा के विकास में प्रमुख भूमिका निभाई है।

Also Read: Childhood Obesity: हो जाएं सावधान! बच्चों में मोटापा बन सकता है महामारी, जानें इसके बचाव के उपाय

तुलसीदास जयंती का महत्व

तुलसीदास ने प्राचीन भारत के दो प्रमुख महाकाव्य में से एक को जनता के लिए सुलभ बनाया। इस दिन का महत्व आने वाली पीढ़ियों के बीच उनके कामों के बारे में जागरूकता पैदा करना साथ ही समाप्त पर उनके प्रभाव के बारे में भी जागरूकता पैदा करना है। इस दिन लोग हनुमान और राम मंदिरों में श्री रामचरितमानस के श्लोकों का पाठ करते हैं। यह दिन कवि की रचनाओं पर प्रकाश डालता है।

Also Read: Astro Tips: इन उपायों से करें बुध ग्रह को मजबूत, बढ़ेगा मान-सम्मान, होगा आर्थिक लाभ

संत तुलसीदास की विभिन्न रचनाएं

  • तुलसीदास ने रामचरितमानस की रचना की थी और उसे 7 खंडों में बांटा था।
  • बालकांड
  • अयोध्या कांड
  • अरण्यकांड
  • किष्किंधा कांड
  • सुंदरकांड
  • लंका कांड
  • उत्तरकांड

अवधी भाषा में लिखा गया हनुमान चालीसा कवि तुलसीदास ने हिंदी में लिखी थी। जिसे आज भी पढ़ कर सभी हनुमान जी की वंदना करते हैं। हनुमान चालीसा के साथ-साथ तुलसीदास ने बजरंग बाण की भी रचना की थी। इसके अलावा उन्होंने कई कविताएं और भजन भी लिखे। जिसे आज लोग बड़ी श्रद्धा से ही गाते हैं।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो पर सकते हैं।

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related