Homeमनी DNPFasal Bima Yojana: फसल को नुकसान होने पर सरकार देगी मुआवजा, जानें...

Fasal Bima Yojana: फसल को नुकसान होने पर सरकार देगी मुआवजा, जानें आवेदन का आसान तरीका

Fasal Bima Yojana: केंद्र सरकार देश के गरीब और मध्यम वर्ग के लिए कई तरह की योजनाएं लाता है। ऐसे में केंद्र सरकार की एक योजना है, जिससे किसानों को काफी लाभ मिला है। इस योजना का नाम है प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना। सरकार इस योजना के जरिए किसानों की मदद करती है।

आर्थिक नुकसान की होगी भरपाई

गौरतलब है कि देश के कई हिस्सों में भारी बारिश हो रही है। ऐसे में भारी बारिश के   चलते लोगों का जीवन सारा अस्त-व्यस्त हो गया है। ऐसे में भारी बारिश का असर किसानों की फसलों पर भी पड़ा है। ऐसे में किसानों को हुए आर्थिक नुकसान की भरपाई करने के लिए सरकार ने इस योजना को पेश किया था। इस योजना के जरिए सरकार किसानों की फसल को सूखा, आंधी, तूफान, बारिश, ओले आदि तमाम तरह की प्राकृतिक आपदा के जोखिम पर पर सुरक्षा प्रदान करती है। आपको बता दें कि अब तक देशभर के 36 करोड़ किसान इस योजना का फायदा उठा चुके हैं।

Also Read: Atal Pension Yojana: योजना में 1 अक्टूबर से लागू होगा नया नियम, जानिए अब कौन कर सकता है आवेदन

इस योजना का कैसे उठाए लाभ

आइए जानते हैं कि इस योजना का कैसे लाभ ले सकते हैं। किसान इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसी भी राज्य से आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए कॉमन सर्विस सेंटर जाना होगा, वहां जाकर एक फॉर्म भरना होगा। आपको बता दें कि फसल की बुआई के 10 दिनों के अंदर फॉर्म जमा करना होता है। इस फॉर्म को-ऑपरेटिव बैंक और पास के किसी भी बैंक में जमा किया जा सकता है। साथ ही किसान इस योजना का लाभ उठाने के लिए ऑनलाइन आवेदन भी कर सकते हैं।

कितना देगा होगा प्रीमियम

इस योजना का फायदा लेने के लिए एक तय प्रीमियम देना होगा। आपको बता दें कि खरीफ की फसल के लिए बीमा राशि का 2% प्रीमियम देना होगा। वहीं, रबी की फसल के लिए 1.5% प्रीमियम देना होगा। बागवानी फसलों के लिए फसल की बीमा राशि का अधिकतम 5% तक प्रीमियम के रूप में देना होगा।

इन दस्तावेजों की पड़ेगी जरूरत

मालूम हो कि अगर भारी बारिश के कारण, बाढ़, तूफान और आंधी के कारण फसल खराब हो जाती है, तो बीमा कंपनियों को 3 दिन के भीतर इसकी सूचना देनी होगी। इसके बाद बीमा कंपनी नुकसान का आंकलन करके किसान के खाते में पैसे आ जाएंगे। इस योजना का लाभ के लेने के लिए किसान के पास बैंक खाता, आधार नंबर, किसान का पासपोर्ट साइज फोटो, किसान का निवास स्थान प्रमाण पत्र और वोटर आईकार्ड की जरूरत होगी।

Also Read: Handwriting Tips: बच्चों की गंदी हैंड राइटिंग को ऐसे बनाएं सुंदर, आज ही अपनाएं ये टिप्स

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो पर सकते हैं।

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -

Latest Post

Latest News

- Advertisement -