- विज्ञापन -

Latest Posts

Virat Kohli: विराट के करिश्माई छक्के को याद करते हुए Haris Rauf ने तोड़ी चुप्पी, कहा – ‘वो एक क्लास शॉर्ट था जो मुझे बुरा नहीं लगा’

Virat Kohli: ऑस्ट्रेलिया का एतिहासिक मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड, टी-20 विश्व कप का पहला और अहम मुकाबला, भारत के सामने पाकिस्तान की टीम और किंग कोहली (Virat Kohli) की वो 82 रनो की नाबाद पारी कोई भी क्रिकेट फैंस भूल नहीं सकता। कई क्रिकेट विशेषज्ञों ने कोहली की पारी को अब तक की सर्वश्रेष्ठ टी-20 पारी बताया। वहीं एक महीने बाद कोहली के हाथो दो छक्के खाने वाले पाकिस्तानी गेंदबाज हारिस रउफ (Haris Rauf) को भी मैच की याद आई है। हाल ही में हुए एक इंटरव्यू में हारिस ने विराट की उस चमत्कारी पारी की जमकर तारीफ़ की है। रउफ ने विराट द्वारा उनके ओवर में मारे गए दोनों छक्कों का भी जिक्र अपने इस इंटरव्यू में किया है।

विराट एक अलग स्तर के खिलाड़ी हैं: हारिस

पाकिस्तान के तेज गेंदबाज हारिस रउफ ने विराट कोहली के उन छक्कों पर रिएक्शन देते हुए कहा, “जिस तरह से विराट कोहली विश्व कप में खेले वह उनकी क्लास है। हम सभी जानते हैं कि वह किस तरह से शॉट खेलते हैं। जिस तरह से विराट ने छक्के मारे मुझे नहीं लगता कोई और बल्लेबाज मेरी बॉलिंग में ऐसा शॉट खेल सकता है।” स्टार गेंदबाज ने ये भी कहा कि कोहली का शॉट एक क्लास एक्ट था जिसका उनके पास कोई जवाब नहीं बचा था। हारिस रउफ ने आगे कहा, “यदि फिनिशर दिनेश कार्तिक और हार्दिक पांड्या ने उन छक्कों को मारा होता तो मुझे दुख होता, लेकिन वह कोहली के बल्ले से निकला, इसलिए मुझे बुरा नहीं लगा।”

ये भी पढ़ें: VIRAT KOHLI: ‘कभी नहीं भूल सकता 23 अक्टूबर की वो शाम’, कोहली ने इंस्टाग्राम के जरिए भारत-पाक मैच से जुड़ी यादें ताजा की

मुझे अंदाजा नहीं था वो ऐसा करेगा: हारिस

पाकिस्तानी तेज गेंदबाज हारिस रऊफ ने कहा “देखिए भारत को आखिरी 12 गेंदों में 31 रनों की जरूरत थी। मैंने 4 गेंदों पर केवल 3 रन दिए थे। मुझे पता था कि मोहम्मद नवाज आखिरी ओवर फेकेंगे और मैंने उनके लिए कम से कम चार बाउंड्री छोड़ने की कोशिश की थी और 20 से ज्यादा रन उनके लिए छोड़ना चाहता था। चूंकि अंतिम 8 गेंदों में 28 रन चाहिए थे, मैंने 3 धीमी गेंद फेंकी और वह धोखा खा गया। मैंने 4 गेंद में से केवल 1 तेज गेंद तेज फेंकी थी, क्योंकि मैदान की साइड वाली बाउंड्री बड़ी थीं।” उन्होंने आगे कहा, “मुझे इस बात का अंदाजा नहीं था कि वह मुझे उस बाउंस से बाहर मार सकता है। इसलिए जब उसने वह शॉट मारा, तो वह उसकी क्लास थी। मेरा प्लान और एग्जीक्यूशन सब ठीक था, लेकिन वह शॉट अलग क्लास का था।”

ये भी पढ़ें: HARMANPREET KAUR: जब 19 वर्षीय भारतीय महिला खिलाड़ी ने की थी चारों ओर छक्कों की बारिश, मैच के बाद कराना पड़ गया था डोप टेस्ट

मैच का सूरत-ए-हाल

भारत के कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान को बल्लेबाजी का न्योता दिया। पहले बल्लेबाजी करते हुए पाकिस्तान की टीम ने स्कोर बोर्ड पर 8 विकेट के नुकसान पर 159 रन लगा दिए थे। भारतीय टीम के मजबूत बल्लेबाजी लाइन अप को देखते हुए ये टारगेट आसान दिखाई पड़ रहा था। लेकिन पाकिस्तान के तेज गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए। रोहित शर्मा और केएल राहुल दोनों को ही 10 रन के स्कोर तक पवेलियन भेज दिया। भारतीय टीम की मुश्किलें यहीं समाप्त नहीं हुईं। स्टार क्रिकेटर सूर्यकुमार जो विश्व कप से पहले बेहतरीन फॉर्म में दिख रहे थे वो भी पहले मुकाबले में कुछ खास कर नहीं पाए। जिसके बाद दूसरे छोर पर खड़े विराट कोहली का साथ देने के लिए हार्दिक पंड्या आए। दोनों के बीच शानदार साझेदारी हुई पर इस साझेदारी में महत्वपुर्ण योगदान विराट कोहली का था। विराट ने अपने दम पर 53 गेंदों 82 रन जड़कर भारत को एक यादगार जीत दिला दी थी।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Latest Posts

देश

बिज़नेस

टेक

ऑटो

खेल