Homeविदेशचीन का ऐलान: बनी रहेगी पाकिस्तान और चीन की दोस्ती, भारत के...

चीन का ऐलान: बनी रहेगी पाकिस्तान और चीन की दोस्ती, भारत के ख़िलाफ़ कही ये बात

पाकिस्तान और चीन ने अपनी दोस्ती को आगे भी जारी रखने पर सहमति जतायी है। दोनों देशों की ओर से कहा गया है कि वे आगे भी अपनी परंपरागत दोस्ती को जारी रखेंगे और किसी भी तीसरी ताक़त को अपने रिश्ते तोड़ने की अनुमति नहीं देंगे। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता चाओ लिजियान ने गुरुवार को बीजिंग में एक प्रेस ब्रीफ़िंग के दौरान यह बात की।

रेडियो पाकिस्तान की ख़बर के अनुसार, चीन के विदेश मंत्री वांग यी और उनके पाकिस्तानी समकक्ष बिलावल भुट्टो ज़रदारी के बीच हुई वर्चुअल बैठक का ज़िक्र करते हुए चाओ लिजियान ने कहा कि दोनों नेताओं के बीच रणनीतिक साझेदारी और सहयोग को और मज़बूत करने पर सहमति बनी है। उन्होंने बताया कि दोनों विदेश मंत्रियों के बीच पाकिस्तान में नई सरकार के सत्ता में आने के बाद से यह पहली मुलाक़ात है। इसमें पाकिस्तान में चीनी नागरिकों और संस्थानों की सुरक्षा को लेकर भी चर्चा हुई।

चीन पाकिस्तान की दोस्ती बनी रहेगी
चाओ लिजियान ने कहा कि पाकिस्तान में चाहे कोई भी सरकार आ जाए, पाकिस्तान के साथ दोस्ती बनी रहेगा। उन्होंने बताया कि पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने अपने संबोधन में दोहराया है कि चीन-पाकिस्तान दोस्ती देश की विदेश नीति की आधारशिला है। इसके साथ ही पाकिस्तान के लिए यह रणनीतिक प्राथमिकता भी है। चाओ लिजियान ने कहा कि पाकिस्तान में आर्थिक और वित्तीय स्थिरता बनाए रखने के लिए पाकिस्तान की सरकार के प्रयासों के साथ चीन समर्तन बनाए रखेगा।

वार्ता में दोनों नेताओं ने पाकिस्तान में चीनी नागरिकों और चीनी संस्थाओं की सुरक्षा समस्या पर विचार विमर्श भी किया। वांग यी ने जोर दिया कि बीते कुछ समय में पाकिस्तान में क्रमशः चीनी लोगों के खिलाफ आतंकवादी हमले हुए हैं। हालिया फौरी काम जल्द ही अपराधियों की खोज कर उन्हें कड़ी सज़ा देना । साथ ही पाकिस्तान में चीनी लोगों, संस्थाओं और परियोजनाओं की सुरक्षा की रक्षा को उन्नत किया जाना चाहिए, ताकि फिर ऐसी घटनाएं न हों।

यह भी पढ़ें: पाकिस्‍तान के नए विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो ने कश्मीर मुद्दे पर मोदी सरकार को किया टारगेट

बिलावल ने कहा कि पाकिस्तान सभी आतंकवादी कार्रवाइयों का दृढ़ विरोध करता है। अपराधियों की तलाशी करने के लिए पाक खुफिया विभाग और प्रासंगिक संस्थाएं दिन-रात मेहनत से काम कर रही हैं। पाकिस्तान चीन के साथ सहयोग कर अपनी आतंकवाद विरोधी क्षमता को उन्नत करना चाहता है, ताकि पाकिस्तान अपने देश में सभी चीनी लोगों की सुरक्षा को सुनिश्चित कर सके।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें।आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो पर सकते हैं

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest पोस्ट

Related News

- Advertisement -