HomeविदेशGun Control Bill in US: तीस दशक बाद अमेरिकी सीनेट में पास...

Gun Control Bill in US: तीस दशक बाद अमेरिकी सीनेट में पास हुआ ‘गन कंट्रोल बिल’, क्या अब खत्म होगा खूनी सिलसिला?

Gun Control Bill in US: अमेरिका में बहुत दिनों से बंदूकों का हाहाकार बढ़ रहा है. बीते वक्त में कई शूटिंग की घटनाएं भी सामने आई हैं, जिसमें बढ़ो से लेकर मासूसों तक की जान गई है. अब इनपर कंट्रोल लगने का समय आ गया है.

Gun Control Bill in US: अमेरिका में बीते दिनों से बढ़ रहीं शूटिंग की घटनाओं के बीच तीस दशक बाद अहम बिल पास हो गया है. यूएस सीनेट में गन कंट्रोल बिल को पास करा लिया गया है. इस बिल की अमेरिका में लंबे वक्त से जोरों शोरों से मांग उठ रही है. अब गन कंट्रोल बिल को अमेरिकी संसद में भेजा जाएगा. यहां स्पीकर नैन्सी पेलोसी (Nancy Pelosi) पहले ही इसको लेकर आवाज बुलंद करने की बात कह चुकी हैं.

अमेरिकी संसद में Gun Control Bill के पास होने के चांस हाई हैं. यहां अल्पसंख्यक नेता केविन मैकार्थी रिपब्लिकन पार्टी से इस बिल के विरोध में वोटिंग करने को कह रहे हैं. हालांकि, सदन में डेमोक्रेट पार्टी के सांसद ज्यादा है. इसलिए इस विरोध का असर शायद ही पड़े.

हालांकि, बता दे कि इस बिल में उन सभी नियमों का जिक्र नहीं है जिनकी बात राष्ट्रपति जो बाइडेन करते रहे हैं. लेकिन फिर भी संसद में पास होने के बाद इसपर बाइडेन तुरंत साइन कर सकते हैं.

गन कंट्रोल बिल जब पास होकर कानून बन जाएगा तो अमेरिका के आम लोगों को राहत मिलने की पूरी उम्मीद है. दरअसल, बीते दिनों बंदूकों के दुरुपयोग की घटनाएं सामने आई हैं, इसमें मासूसों ने जान गंवाई है. बंदूकधारी खुलेआम आम लोगों को निशाना बनाते थे, ऐसी घटनाएं बढ़ने से हर कोई चिंता में था.

अमेरिका में मास शूटिंग की घटनाओं के आंकड़े देख आप चौक जायेंगे. इस साल मई तक 212 मास शूटिंग की घटनाएं सामने आई थीं. ज्यादातर में किसी सिरफिरे हत्यारे ने गन उठाई और निर्दोष लोगों को मौत के घाट उतार डाला.

अमेरिका का गन कल्चर उतना ही पुराना है जितना कि अमेरिका का संविधान. 1791 में अमेरिका के दूसरे संविधान संशोधन में सभी नागरिकों को बंदूक रखने का अधिकार दे दिया गया था. अमेरिकी संविधान में कहा गया है कि देश की स्वाधीनता सुनिश्चित रखने के लिए हथियार रखना और उसे लेकर चलना नागरिकों का अधिकार है. इस वजह से 18 साल से ऊपर के हर अमेरिकी नागरिक को अपने पास बंदूक रखने की छूट खुद संविधान ने दी है बशर्ते वो मानसिक रूप से बीमार ना हो.

Enter Your Email To get daily Newsletter in your inbox

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest पोस्ट

Related News

- Advertisement -