गुरूवार, जुलाई 25, 2024
होमऑटोUP Hybrid Tax waiver: UP सरकार ने हाइब्रिड कारों के टैक्स पर...

UP Hybrid Tax waiver: UP सरकार ने हाइब्रिड कारों के टैक्स पर दी बड़ी छूट, यहाँ देखें ऑटो कम्पनियों की प्रतिक्रियाएं

Date:

Related stories

UP Hybrid Tax waiver: उत्तर प्रेदश की योगी सरकार ने ऑटो कंपनियों और ग्राहकों को बड़ी सौगात दी है। योगी सरकारी की तरफ से हाइब्रिड कारों की रजिस्ट्रेशन कार फीस को माफ कर दिया गया है। सरकार के इस फैसले से हाईब्रिड कारे ग्राहकों को 3 से 4 लाख रुपए सस्ती मिल सकती है। पहले इस टैक्स को हाईब्रिड कारों की कीमत के आधार पर टैक्स बांटा गया था, लेकिन अब इसे माफ कर दिया गया है। पहले 10 लाख रुपए तक की कीमत पर आने वाली गाड़ियों पर 8 फीसदी का रजिस्ट्रेशन चार्ज लगता था। वहीं, इससे ज्यादा कीमत वाली गाड़ियों पर 10 फीसदी का RTO टैक्स लगता था, लेकिन अब इसे माफ कर दिया गया है। ऐसे ग्राहकों और ऑटो कंपनी के मालिकों को काफी फायदा होगा। योगी सरकार के इस फैसले के बाद ऑटो कंपनियो के प्रमुख लोगों की तरफ से प्रतिक्रियाएं आ रही हैं।

मारुति सुजुकी के चेयरमैन आरसी भार्गव की प्रतिक्रिया

हाइब्रिड कारों से टैक्स हटने पर मारुति सुजुकी के चेयरमैन आरसी भार्गव की प्रतिक्रिया आयी है, जिसमें उन्होंने बताया है कि, “यूपी सरकार द्वारा उठाया गया कदम अन्य राज्यों को भी ऐसे प्रस्तावों पर विचार करने के लिए प्रेरित करेगा। यूपी सरकार की ओर से ऐसा पहली बार किया गया है। किसी राज्य की सरकार ने इस बात को महसूस किया है और उस पर कार्रवाई की है कि कार्बन उत्सर्जन और तेल आयात में कमी के लिए कई तकनीकों की जरूरत है। उन्‍होंने जोर देकर कहा कि इलेक्ट्रिक कारें इकलौता विकल्प नहीं हैं, प्रदूषण से निपटने के लिए हाइब्रिड कारों जैसी अन्य प्रभावी तकनीकें भी हैं।”

होंडा कार्स इंडिया में मार्केटिंग और सेल्स के उपाध्यक्ष कुणाल बहल ने क्या कहा?

होंडा कार्स इंडिया में मार्केटिंग और सेल्स के उपाध्यक्ष कुणाल बहल की तरफ से भी यूपी सरकार के इस फैसले पर प्रतिक्रिया आयी है, जिसमें उन्होंने कहा कि, ” मजबूत हाइब्रिड वाहनों पर 100 प्रतिशत रोड टैक्स छूट उत्तर प्रदेश सरकार का एक मील का पत्थर निर्णय है, जो इन पर्यावरण-अनुकूल वाहनों को अपनाने को प्रोत्साहित करेगा। यह निर्णय टिकाऊ गतिशीलता के लिए होंडा की वैश्विक प्रतिबद्धता और 2050 तक शून्य कार्बन उत्सर्जन प्राप्त करने के उनके दृष्टिकोण के अनुरूप है।”

फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (FADA) का बयान

इसके साथ ही फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (FADA) ने भी योगी सरकार के इस फैसले पर प्रतिक्रिया दी है। FADA ने कहा कि, “यह नीति मौजूदा छोटे बाजार के बावजूद, यूपी में मजबूत हाइब्रिड वाहन बिक्री को बढ़ावा देगी। ऐसे वाहनों के अधिकांश खरीदार पहली बार मालिक नहीं हैं और उनका मानना ​​है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इस कदम से ऑटो सेक्टर को मदद मिलेगी।”

हाईब्रिड कारें क्या होती हैं?

पेट्रोल और डीजल की बढ़ती हुई कीमत को देखते हुए हाईब्रिड कारों को बनाया गया है। इन कारों में पेट्रोल या डीजल इंजन को इलेक्ट्रिक मोटर से जोड़ा जाता है, इसकी मदद से जब गाड़ी पेट्रोल या डीजल इंजन पर चलती है तो उस समय बैटरी चार्ज होती है और फिर बैटरी चार्ज होने पर मोटर की मदद से गाड़ी अच्छे माइलेज और स्पीड के साथ आगे बढ़ती है। इससे ईधन की खपत भी कम होती है और माइलेज भी ज्यादा मिलता है। हाईब्रिड कारें Mild Hyubrid, Strong Hybrid और Plug-in Hybrid तीन तरह की होती हैं।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Aarohi
Aarohihttps://www.dnpindiahindi.in/
आरोही डीएनपी इंडिया में मनी, देश, राजनीति , सहित कई कैटेगिरी पर लिखती हैं। लेकिन कुछ समय से आरोही अपनी विशेष रूचि के चलते ओटो और टेक जैसे महत्वपूर्ण विषयों की जानकारी लोगों तक पहुंचा रही हैं, इन्होंने अपनी पत्रकारिका की पढ़ाई पीटीयू यूनिवर्सिटी से पूर्ण की है और लंबे समय से अलग-अलग विषयों की महत्वपूर्ण खबरें लोगों तक पहुंचा रही हैं।

Latest stories