Bageshwar Dham in Mumbai:धीरेंद्र शास्त्री ने विरोधियों को ललकारा, बोले- जब तक जिएंगे, मुंबई आते रहेंगे

आखिरकार धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने अपना दो दिवसीय दरबार सजा ही दिया। मीरा रोड इलाके में आयोजित बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर शास्त्री ने पहले ही दिन ही अपनी पीठ से दरबार विरोधियों पर कई तंज कस दिए। जिनको बागेश्वर धाम में पाखंड और अंधविश्वास नजर आ रहा है। उन मूर्खों को हमारे सामने आना चाहिए। हम उन्हें उनके एक-एक दाग बताकर भेज देंगे।

Bageshwar Dham in Mumbai: मुंबई में विवादों के बीच कल आखिरकार धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने अपना दो दिवसीय दरबार सजा ही दिया। मीरा रोड इलाके में आयोजित बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर शास्त्री ने पहले ही दिन ही अपनी पीठ से दरबार विरोधियों पर कई तंज कस दिए। बाबा बागेश्वर धाम ने सबसे पहले उन लोगों को आइना दिखाते हुए कहा कि विरोधियों ने बहुत कोशिश की कि बागेश्वर धाम महाराष्ट्र न आ सकें। लेकिन हम उन्हें बता दें ये मुंबई क्या, ये पूरा भारतवर्ष ही हमारा है। जब तक जिएंगे,तब तक तुम्हारे पास आते रहेंगे। इसके साथ ही शास्त्री ने कई अपने कई उद्धेश्यों पर खुल कर अडिग रहने की बात की।

सनातन को जोड़कर रहेंगे

बाबा बागेश्वर धाम ने सनातन के प्रति अपने अटूट समर्पण को लेकर कहा कि विरोधियों ने बहुत कोशिश की कि बागेश्वर धाम महाराष्ट्र न आ सकें। लेकिन हम उन्हें बता दें ये मुंबई क्या, ये पूरा भारतवर्ष ही हमारा है। जब तक जिएंगे,तब तक तुम्हारे पास आते रहेंगे। हम सभी सनातनियों को सनातन से जोड़कर ही रहेंगे। हम जगह-जगह बागेश्वर धाम का दरबार सजाकर बताएंगे कि भारत के ऋषि-मुनियों ने जो वेद-मंत्र अपने गहन शोध तपस्या से सिद्ध करके भारत को दिए हैं। उन मंत्रों की ताकत के बारे में सनातन के लोग अच्छे से जान पाएंगे।

ये भी पढ़ें: Bageshwar Dham: मुंबई में Dhirendra Shastri का विरोध और MP के नेता मत्था टेकते हैं, भाजपा ने ली चुटकी-नाटक करती है कांग्रेस

भारत को हिंदू राष्ट्र बनाकर दम लेंगे

मुंबई के अपने श्रृद्धालुओं को संबोधित करते हुए धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने कहा कि यदि आप हमें मुंबई में रुकवाना चाहते हैं। तो हम मुंबई में एक सप्ताह जरुर देंगे और धर्म विरोधियों की छुट्टी कर देंगे। जब तक जिएंगे,तब तक तुम्हारे पास आते रहेंगे। हम कोई ऐसा कार्य नहीं करेंगे कि सनातन धर्म को नीचा देखना पड़े। हमको समर्पित होकर अपने एक बच्चे को राम को समर्पित कर घर से जरुर निकालिए। ताकि हम अधिक से अधिक युवाओं को जोड़कर भविष्य का हिंदू राष्ट्र बनाएंगे। जो श्रीराम की भांति धर्म और मर्यादा की रक्षा कर सकें।

अंधविश्वास और पाखंड बताने वालों को दिया जबाव

अंधविश्वास और पाखंड बताने वाले विरोधियों को जवाब देते हुए शास्त्री ने कहा कि ‘जिनको बागेश्वर धाम में पाखंड और अंधविश्वास नजर आ रहा है। उन मूर्खों को हमारे सामने आना चाहिए। हम उन्हें उनके एक-एक दाग बताकर भेज देंगे। हम हमेशा अपने भक्तों को सलाह देते हैं कि किसी अंधविश्वास में बिल्कुल न पड़े,न किसी तांत्रिक के चक्कर में पड़कर अपना घर बर्बाद करें। हमें न ही कोई धन चाहिए और न ही किसी से चुनौती। जिसको दिक्कत है वह यहां आ जाए, जिसको खुजली है, हम उसे मरहम लगा देंगे। पैरासीटामोल दे देगें।’

ये भी पढ़ें: SP National Executive Meeting: SP National Convention में नहीं पहुंचे आजम

मनोरंजन

टेक

धर्म

स्पोर्ट्स