शनिवार, जून 22, 2024
होमदेश & राज्यउत्तराखंडChar Dham Yatra 2024 को लेकर अलर्ट मोड पर प्रशासन, तीर्थयात्रियों के...

Char Dham Yatra 2024 को लेकर अलर्ट मोड पर प्रशासन, तीर्थयात्रियों के लिए जारी हुए अहम आदेश; जानें डिटेल

Date:

Related stories

Viral Video: देवभूमि में हीरोबाजी व रील का खेल दिखाना युवक को पड़ा भारी! पुलिस ने चालान काट कतरे पंख; देखें वीडियो

Viral Video: उत्तराखंड को देवभूमि या देवताओं की भूमि कहा जाता है क्योंकि यहां सुदूर पर्वतीय इलाकों पर भी पवित्र मंदिर देखने को मिलते हैं। इसके अलावा मां गंगा की कल-कल धारा भी देवभूमि की पवित्रता में चार चांद लगाती है।

उत्तराखंड में धामी Govt का खास प्लान, खिलाड़ियों के लिए आसान होगा सरकारी नौकरी पाने का रास्ता; जानें पूरी खबर

Uttarakhand News: उत्तराखंड सरकार राज्य के सभी नागरिकों के हित को ध्यान में रखते हुए अपने फैसले लेती है। इसमें युवा से लेकर बुजुर्ग, महिलाएं व राज्य के अन्य वर्ग शामिल हैं।

गंगा दशहरा पर हरिद्वार में लगेगी आस्था की डूबकी, जानें इस खास पर्व को लेकर क्या है उत्तराखंड सरकार की तैयारी?

Ganga Dussehra 2024: धार्मिक मान्यताओं के अनुसार हिन्दुओं के प्रमुख त्योहार गंगा दशहरा को ज्येष्ठ शुक्ल दशमी तिथि पर मनाया जाता है। वर्ष 2024 की बात करें तो इस बार गंगा दशहरा 16 जून यानी रविवार के दिन मनाया जाएगा।

मॉनसून से पहले CM Dhami की समीक्षा बैठक, आपदा प्रबंधन व संवेदनशील जिलों के लिए जारी हुए अहम निर्देश; जानें डिटेल

Uttarakhand News: उत्तराखंड की भौगोलिक स्थिति को देखते हुए राज्य को 3 हिस्सों में बांटा गया है। इसमें हिमालय, शिवालिक और तराई जैसे भौगोलि क्षेत्र हैं। देवभूमि की भौगोलिक स्थिति ऐसी है कि इस राज्य के लिए मॉनसून एक बड़ी चुनौती बन कर सामने आता है।

उत्तराखंड में मिल रहा मुख्यमंत्री अंत्योदय नि:शुल्क गैस रिफिल योजना का लाभ, जानें कैसे लाखों महिलाओं को होगा फायदा?

Uttarakhand News: उत्तराखंड सरकार द्वारा शुरू की गई मुख्यमंत्री अंत्योदय नि:शुल्क गैस रिफिल योजना को लेकर खूब खबरें बन रही हैं। इस योजना के तहत अंत्योदय कार्डधारक लाभार्थी प्रति वर्ष 3 गैस सिलिंडर निःशुल्क भरवा सकते है।

Char Dham Yatra 2024: उत्तराखंड के विभिन्न हिस्सों में इन दिनों खूब भीड़ जुट रही है। दरअसल राज्य के अलग-अलग इलाको में लोग चार धाम यात्रा में शामिल होने के लिए पहुंच रहे हैं। इसी क्रम में उत्तरकाशी के जिला मजिस्ट्रेट डॉ. मेहरबान सिंह बिष्ट ने यमुनोत्री धाम पैदल यात्रा मार्ग पर चल रहे तीर्थयात्रियों को लेकर अहम निर्देश जारी किए हैं।

प्रशासन की ओर से उत्तरकाशी के डीएम मेहरबान सिंह बिष्ट ने स्पष्ट किया कि तीर्थयात्रियों की सुचारू, सुरक्षित और शांतिपूर्ण आवाजाही के लिए आपराधिक प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत एक आदेश पारित किया गया है। इसके अनुसार जानकी चट्टी से यमुनोत्री और यमुनोत्री धाम से जानकी चट्टी तक जाने वाले घोड़ों और खच्चरों की अधिकतम संख्या 800 निर्धारित की गई है। दावा किया जा रहा है कि प्रशासन के इस कदम से पैदल चलने वाले तीर्थयात्रियों को राहत मिल सकेगा।

अलर्ट मोड पर प्रशासन

उत्तराखंड में चार धाम यात्रा के संचालन को लेकर प्रशासन अलर्ट मोड पर है। इसी क्रम में तीर्थयात्रियों की सुगम आवाजाही को लेकर समय-समय पर आवश्यक निर्देश जारी किए जा रहे हैं।

उत्तरकाशी के जिलाधिकारी डॉ. मेहरबान सिंह बिष्ट ने इसी क्रम में आज यमुनोत्री धाम की ओर पैदल यात्रा करने वालों यात्रियों के लिए अहम निर्देश जारी किए हैं। जिलाधिकारी की ओर से स्पष्ट किया गया है कि आपराधिक प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत अब जानकी चट्टी से यमुनोत्री और यमुनोत्री से जानकी चट्टी तक जाने वाले घोड़ों और खच्चरों की अधिकतम संख्या 800 होगी। इसके अलावा ये भी आदेश जारी हुए हैं कि पैदल मार्ग पर घोड़ों और खच्चरों की आवाजाही का समय सुबह 4 बजे से शाम 5 बजे तक ही होगा।

ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन बंद

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी लगातार चार धाम यात्रा की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। इसी क्रम में सीएम धामी ने अपने आधिकारिक एक्स हैंडल से जानकारी दी है कि यात्रियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए 31 मई तक ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन बंद कर दिया गया है।

चार धाम यात्रा के दौरान ये कदम विभिन्न राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं द्वारा मिल रहे फीडबैक के आधार पर उठाए जा रहे हैं ताकि ये धार्मिक यात्रा यात्रियों के लिए और सुगम बन सके।

सीएम धामी की ओर से ये जानकारी भी दी गई है कि अब केदारनाथ धाम में सभी तीर्थ यात्रियों को गर्भगृह तक जाकर दर्शन करने की अनुमति दी गई है।

Gaurav Dixit
Gaurav Dixithttp://www.dnpindiahindi.in
गौरव दीक्षित पत्रकारिता जगत के उभरते हुए चेहरा हैं। उन्होनें चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय से अपनी पत्रकारिता की डिग्री प्राप्त की है। गौरव राजनीति, ऑटो और टेक संबंघी विषयों पर लिखने में रुची रखते हैं। गौरव पिछले दो वर्षों के दौरान कई प्रतिष्ठीत संस्थानों में कार्य कर चुके हैं और वर्तमान में DNP के साथ कार्यरत हैं।

Latest stories