सोमवार, अप्रैल 22, 2024
होमधर्मYashoda Jayanti 2024: कब मनाई जाएगी यशोदा जयंती 2024? पूजा करने से...

Yashoda Jayanti 2024: कब मनाई जाएगी यशोदा जयंती 2024? पूजा करने से मिल सकता है संतान का सुख, जाने शुभ मुहूर्त और तिथि

Date:

Related stories

Yashoda Jayanti 2024: फाल्गुन मास शुरू हो गया है। यह महीना हिंदूओं के लिए बहुत खास माना जाता है। वहीं, इस महीने में बड़ा त्योहार यानि होली का पर्व भी मनाया जाता है। हिंदू केलेंडर के मुताबिक, फाल्गुन माह के कृष्ण पक्ष की पष्ठी तिथि को माता यशोदा की जयंती मनाई जाती है। मान्याताओं के अनुसार, इस दिन मां यशोदा का जन्म हुआ था। वैसे तो भगवान श्रीकृष्ण ने मां देवकी की कोख से जन्म लिया था। लेकिन उनका पालन-पोषण माता यशोदा ने किया था।

माना जाता है कि, इस दिन माता यशोदा की पूजा-अर्चना करने से पापों से मुक्ति मिलती है। साथ ही जीवन में सुख शांति का आगमन होता है। तो ऐसे में आइए जानते है कि किस दिन यशोदा जयंती 2024 मनाई जाएगी।

Yashoda Jayanti 2024 की शुभ-तिथि

यशोदा ​जयंती 1 मार्च को मनाई जाएगी। वहीं, इस दिन मां यशोदा की पूजा-अर्चना करने से संतान का सुख प्राप्त होता है। साथ ही जीवन की कईं समस्याओं का निवारण होता है।

Yashoda Jayanti 2024 का शुभ-मुहूर्त

हिंदू केलेंडर के मुताबिक, फाल्गुन माह के कृष्ण पक्ष की छठी ​तिथि 1 मार्च 2024 को सुबह 06:21 मिनट पर शुरू होगी। वहीं, अगले दिन 2 मार्च 2024 को सुबह 07:53 बजे समाप्त होगी। तो ऐसे में पूजा करने का शुभ मुहूर्त सुबह 06:46 से सुबह 11:07 तक होगा।

क्या है Yashoda Jayanti का महत्व?

फाल्गुन में श्रीकृष्ण की पूजा करने का अलग महत्व बताया गया है। तो यदि आप इस दिन श्रीकृष्ण के बाल स्वरूप की पूजा उपासना करते हैं तो आपकेा निसंतान दंपत्ति को लाभ मिलता है। बता दें कि, माता यशोदा की जयंती गुजरात, महाराष्ट्र ​तथा दक्षिण भारतीय राज्यों में भी मानाई जाती है। इस दिन माताएं अपने संतान की दीर्घायु और सफल जीवन के लिए व्रत रखती हैं। साथ ही मां यशोदा की उपासना करती हैं। इस त्योहर को देशभर में वैष्णव परंपरा के लोग उूत्साह के साथ मनाते हैं।

ऐसे करें Yashoda Jayanti 2024 के दिन पूजा

  • सुबह जल्दी उठकार स्नान करें। साथ ही साफ वस्त्र धारण करें।
  • माता यशोदा और भगवान कृष्ण का मन से स्मरण करें। साथ ही अपनी संतान के सुख की कामना करें।
  • मां को लाल चुनरी चढ़ाएं। इसके ​अलावा पंजीरी, मिठाई और मक्खन का भोग लगांए।
  • मां यशोदा की गोद में बैठे बाल गोपाल के मंत्रों का जाप करें और कृष्ण व माता यशोदा से वरदान मांगे।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।   

DNP न्यूज़ डेस्क
DNP न्यूज़ डेस्कhttps://www.dnpindiahindi.in
DNP न्यूज़ डेस्क उत्कृष्ट लेखकों एवं संपादकों का एक प्रशिक्षित समूह है. जो पिछले कई वर्षों से भारत और विदेश में होने वाली महत्वपूर्ण खबरों का विवरण और विश्लेषण करता है.उच्च और विश्वसनीय न्यूज नेटवर्क में डीएनपी हिन्दी की गिनती होती है. मीडिया समूह प्रतिदिन 24 घंटे की ताजातरीन खबरों को सत्यता के साथ लिखकर जनता तक पहुंचाने का कार्य निरंतर करता है

Latest stories