- विज्ञापन -

Latest Posts

स्वर कोकिला लता मंगेशकर के बिना पहली बार देश मनाएगा गणतंत्र दिवस, जानिए 26 जनवरी से क्या नाता था लता का

Republic Day 2023: आजाद भारत में पहली बार ऐसा होगा जब देश स्वर कोकिला लता मंगेशकर के बिना गणतंत्र दिवस मनाएगा. 6 फरवरी 2022 को उनका निधन हो गया. ये अलग बात है कि उनके गाए गीत ए मेरे वतन के लोगों… हमेशा लोगों की जुबान पर रहेंगे और हर साल 26 जनवरी को गाए जाएंगे, लेकिन अब ये सब देखने के लिए लता जी हमारे बीच मौजूद नहीं होंगी.

26 जनवरी से क्या नाता है लता मंगेशकर का?

हर साल 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस बड़े ही उत्साह और जोश के साथ मनाया जाता है। गणतंत्र दिवस के खास अवसर के लिए दिवंगत लता मंगेशकर ने कई ऐसे गीत गए हैं जो पीढ़ी दर पीढ़ी सभी याद रखेंगे। इसके अलावा आने वाली पीढ़ियां भी लता मंगेशकर की सुरीली आवाज को सुनकर हैरान होगी। लता मंगेशकर का गाना ‘ऐ मेरे वतन के लोगों’ यह गाना लोगों के दिलों को ऐसे छू गया कि इसको सुनने वाले के आंसू भी निकल जाते हैं। जब पहली बार इस गाने को पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू ने सुना था तो उनके भी आंसू निकल गए थे। लेकिन खुद लता मंगेशकर का कहना है कि गणतंत्र दिवस के अवसर पर यह गीत नहीं गाना चाहिए। 

पहली बार लता मंगेशकर के बिना मनाया जाएगा गणतंत्र दिवस

आज के समय में भी जब लता मंगेशकर के गाने ‘ए मेरे वतन के लोगों’ को गाया जाता है तो लोग उसे बड़े ही दिल लगा के सुनते हैं। वहीं कुछ लोगों के रोंगटे खड़े हो जाते हैं। अब लता मंगेशकर का कहना है कि इस गाने को रिपब्लिक डे पर नहीं बजाना चाहिए उन्होंने कहा था कि ‘रिपब्लिक डे खुशी का दिन होता है इसके लिए वंदे मातरम जैसा गीत ज्यादा ठीक होगा हालांकि जो भी मैंने शो किए, उनमें इस गीत की फरमाइश सबसे ज्यादा आती रही।’ लेकिन अब लता मंगेशकर के निधन के बाद ऐसा पहली बार होगा जब रिपब्लिक डे सेलिब्रेट किया जाएगा। उनके निधन से पूरा देश शोक की लहर में डूब चुका है और उनके गाने, गीत लोगों के दिलों में इस तरह जगह बना चुके हैं जैसे वह कभी खत्म नहीं होंगे। अपनी सुरीली आवाज के जरिए ही लता मंगेशकर सभी के दिलों में बस चुकी हैं। 

Also Read: Bigg Boss 16: फिनाले से पहले प्रियंका से हुई गलती, नेशनल टेलीविजन पर खुद को लेकर कर दिया ऐसा खुलासा

लता मंगेशकर ने बढ़ाया था लोगों का उत्साह

बता दे कि लता मंगेशकर को भारत रत्न से सम्मानित किया जा चुका है। इसके अलावा फिल्मफेयर से लेकर तमाम बड़े अवॉर्ड्स भी उन्होंने जीते हैं। एक मौका ऐसा भी था जब लता मंगेशकर ने अपना अवॉर्ड लेने से मना कर दिया था। उनका कहना था कि ‘इन पुरस्कारों से दूसरों का उत्साह बढ़ाया जाना चाहिए।’ लता मंगेशकर के इस प्रसंग से सभी को उत्साह मिला और बढ़ चढ़कर संगीत की दुनिया में लोगों ने भाग लिया। लता मंगेशकर ने कई लोगों को संगीत की दुनिया में सफलता प्राप्त कराने में मदद की है। और लोग आज भी उनको बहुत याद करते हैं।

Also Read: Republic Day 2023 पर DMRC दे रही बड़ा तोहफा, ये लोग Delhi Metro में कर सकते हैं मुफ्त सफर

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Latest Posts

देश

बिज़नेस

टेक

ऑटो

खेल