रविवार, जुलाई 14, 2024
होमख़ास खबरेंदूध के पैकेट बेचने से लेकर T20 World Cup उठाने तक का...

दूध के पैकेट बेचने से लेकर T20 World Cup उठाने तक का सफ़र, जानें अब क्या है Rohit Sharma का नेटवर्थ

Date:

Related stories

Rohit Sharma: भारतीय टीम ने T20 World Cup 2024 में आउटस्टैंडिंग परफॉर्मेंस देते हुए फाइनल मैच अपने नाम कर लिया। इसके साथ हीं 11 साल बाद ICC ट्रॉफी का सूखा खत्म किया। हालांकि किसी भी टीम के जीत का श्रेय उसके कप्तान को जाता है, और क्योंकि ट्रॉफी को जीताने वाला मार्गदर्शक खिलाड़ी कप्तान हीं होता है। और, भारतीय कप्तान रोहित शर्मा तो उस रेस के घोड़े हैं जिसपर जब मन करे बाजी लगा दो टीम को जीतना हीं है।

लेकिन, क्या आपको पता है कि उनके क्रिकेट जर्नी में उन्हें कितना कष्ट झेलना पड़ा? उन्हें कितनी आर्थिक समस्या से जुझना पड़ा? यहाँ तक कि क्रिकेट का अपना सपना पूरा करने के लिए दूध के पैकेट तक बेचना पड़ा। आइए जानतें हैं उनके क्रिकेट के नेट वर्थ से लेकर टी20 वर्ल्डकप उठाने तक के सफर को।

पैसे की कमी के कारण नहीं भर सके स्कूल की फिस

बता दें, हिटमैन रोहित शर्मा किसी ऐसे परिवार से नहीं आते जहाँ बहुत ज्यादा फैमिली का सपोर्ट हो और आर्थिक मदद मिल रही हो। वह नागपुर के एक छोटे से परिवार से आतें हैं, जिनके पिता पहले एक ट्रान्सपोर्ट कंपनी में कार्यरत थे। लेकिन, रोहित के क्रिकेट के प्रति जुनून और बुलंद हौसले उनको क्रिकेट के इतिहास का ‘हिटमैन’ बना दिया।

हालांकि इस दौरान उनकी जर्नी बिल्कुल आसान नहीं रही। उनके घर में इतने पैसे भी नहीं थे कि उनके पिता स्कूल की फिस भर सकें। इसलिए, उन्हें आगे की पढाई के लिए नानी के घर बोरीवली भेज दिया गया। जहाँ इन्होंने गली क्रिकेट खेलना शुरु किया औऱ आने वाले अपने क्रिकेट जीवन की नींव रखी।

ऑफ स्पिन बॉलर के तौर पर शुरु की क्रिकेट

Rohit Sharma जब सिर्फ 11 साल के थे तब उन्होंने बोरिवली में हीं अपने स्कूल की छुट्टियों के दौरान एक लोकल क्रिकेट क्लब ज्वाइन किया। हालांकि उस क्लब में काफी बैट्समैन पहले से मौजूद थे, इसलिए उन्हें ऑफ-स्पिन बॉलर के तौर पर जगह मिली। इसके बाद उनके स्कूल कोच दिनेश लाद ने उनके विकेट टेकिंग एबिलिटी देखी तो वह भौंचक्का रह गए।

एक बॉलर होने के कारण वह गेंदबाजी में 8वें या 9वें नंबर पर बल्लेबाजी करते थे। लेकिन, जब उनके कोच ने उनकी बैटिंग देखी तो उन्हें इंटर स्कूल कंपिटिशन में पहले नंबर पर बैटिंग करने के लिए भेज दिया जहाँ उन्होंने 120 रनों की दमदार पारी खेली और अपना पूरा क्रिकेट चेंज कर दिया।

दूध बेचकर खरीदा था क्रिकेट कीट

बताते चलें, एक बार मुंबई इंडियंस के पूर्व खिलाड़ी प्रज्ञान ओझा ने कहा था कि Rohit Sharma की आर्थिक स्थिति इतनी खराब थी कि क्रिकेट कीट खरीदने के लिए उन्होंने दूध के पैकेट भी बेंचे थे। हालांकि आपको जानकर हैरानी होगी कि 2007 में भारतीय टीम में डेब्यू करने के बाद फिलहाल रोहित शर्मा की नेटवर्थ 200 करोड़ से ज्यादा है। वह कई कंपनियों के ब्रांड एंबेसडर भी हैंस जिसमें Adidas India, CEAT, Oral B, Dream11 और Swiggy शामिल हैं।

बता दें, शनिवार को उनकी कप्तानी में भारतीय टीम ने ICC T20 World cup 2024 का खिताब अपने नाम किया है। इसके बाद रोहित शर्मा ने टीम को झटका देते हुए T20I से संन्यास ले लिया है।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Latest stories