बुधवार, जुलाई 17, 2024
होमख़ास खबरेंरिकॉर्ड से हटाए गए अपने बयान को बहाल करने के लिए Rahul...

रिकॉर्ड से हटाए गए अपने बयान को बहाल करने के लिए Rahul Gandhi ने स्पीकर ओम बिड़ला को लिखा पत्र, जानें डिटेल

Date:

Related stories

Rahul Gandhi: ‘भय और भ्रम का जाल टूटा’, विधानसभा उपचुनाव में BJP की हार के बाद Congress नेता का तंज; देखें रिपोर्ट

Rahul Gandhi: देश में आज 7 राज्यों की 13 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजें सामने आ गए हैं। इस चुनावी रण में विपक्षी गठबंधन (India Alliance) ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 13 में से कुल 10 सीटों पर जीत दर्ज कर ली है।

Rahul Gandhi: हार-जीत एक सिक्के के दो पहलू! Smriti Irani की चुनावी हार पर अब ये क्या बोल गए राहुल गांधी?

Rahul Gandhi: लोकसभा चुनाव 2024 को बीते 1 महीने से ज्यादा हो गए। इस चुनाव में कुछ शीर्ष नेताओं की बुरी तरह से हार हुई तो वहीं कई ऐसे नेता भी चुनकर सदन पहुंचे जिन्हें सिरे से नकार दिया जाता था।

Rahul Gandhi: हाथरस के बाद Assam, Manipur पहुंचे राहुल गांधी, राहत शिविर का दौरा कर पीड़ितों से की मुलाकात; जानें डिटेल

Rahul Gandhi: कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष व रायबरेली लोकसभा सीट से सांसद राहुल गांधी, लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष बनने के बाद बेहद सक्रिय नजर आ रहे हैं। राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने बीते दिनों ही यूपी के हाथरस में हुए भगदड़ में मारे जाने वाले मृतकों के परिजनों से मुलाकात की थी।

Rahul Gandhi: क्या हाथरस के बाद Manipur भी जाएंगे राहुल गांधी? जानें क्या है Congress के पूर्व चीफ की खास तैयारी?

Rahul Gandhi: कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष व रायबरेली लोकसभा सीट से सांसद राहुल गांधी की सक्रियता तेजी से बढ़ती जा रही है। दावा किया जा रहा है कि लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष बनने के बाद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) का राजनीतिक कद भी बढ़ा है, जिसमें वो और इजाफा देने के लिए प्रयासरत नजर आ रहे हैं।

Rahul Gandhi: 18 लोकसभा का पहला सत्र चालू है। इसी बीच लोकसभा में विपक्ष के नेता और कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने अपने भाषण से हटाई गई टिप्पणियों और अंशों को लेकर अध्यक्ष ओम बिरला को पत्र लिखा। अनुरोध किया है कि टिप्पणियों को बहाल किया जाए। गौरतलब है कि बीते दिन यानि 1 जुलाई को अपने भाषण के दौरान राहुल गांधी के ‘हिंदू’ बयान पर बवाल मच गया था। बीजेपी ने जमकर इसका विरोध किया था।

Rahul Gandhi ने स्पीकर ओम बिड़ला को लिखा पत्र

पत्र में लिखा है कि “यह देखकर स्तब्ध हूं कि जिस तरह से मेरे भाषण का काफी हिस्सा निष्कासन की आड़ में कार्यवाही से हटा दिया गया। मेरी सुविचारित टिप्पणियों को रिकॉर्ड से हटाना संसदीय लोकतंत्र के मूल सिद्धांतों के खिलाफ है। मैं 2 जुलाई की लोकसभा की असंशोधित बहस का प्रासंगिक हिस्सा संलग्न कर रहा हूं, मैं यह कहने के लिए बाध्य हूं कि हटाए गए हिस्से नियम 380 के दायरे में नहीं आते हैं, जो मैंने सदन में व्यक्त करना चाहा वह जमीनी हकीकत है, प्रत्येक सदस्य की तथ्यात्मक स्थिति है।

जो सदन उन लोगों की सामूहिक आवाज का प्रतिनिधित्व करता है, जिनका वह प्रतिनिधित्व करते है, उसे भारत के संविधान के अनुच्छेद 105(1) में निहित अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता है, सदन के पटल पर लोगों की चिंताओं को उठाना प्रत्येक सदस्य का अधिकार है। यह देश के लोगों के प्रति अपने दायित्व का पालन करने का वह अधिकार है जिसे कल रिकॉर्ड से हटा गया था। मैं अनुरोध करता हूं कि कार्यवाही से हटाई गई टिप्पणियों को बहाल किया जाए”।

इमरान मसूद ने राहुल गांधी का किया समर्थन

लोकसभा में विपक्ष के नेता राहुल गांधी के भाषण पर कांग्रेस सांसद इमरान मसूद का कहा कि, ”राहुल गांधी ने कहा कि हिंदू कभी हिंसक नहीं हो सकता, वह कभी नफरत नहीं फैला सकता. हिंदुओं के नाम पर ऐसी बातें नहीं कही जानी चाहिए- राहुल गांधी ने कहा अगर आप इसे ऐसे ले रहे हैं तो इसका मतलब है कि आप मुद्दों पर चर्चा से भागना चाहते हैं।

देश के युवा, छात्र, किसान, व्यापारी, महिलाएं चिंतित हैं। बीजेपी नेताओं द्वारा राहुल गांधी से माफी की मांग पर उन्होंने कहा, “किसलिए? क्या राहुल गांधी हिंदू नहीं हैं? वह भगवान शिव के उपासक हैं। उन्होंने हिंदू धर्म की शिक्षाओं के बारे में बात की।”

Latest stories