बुधवार, जुलाई 17, 2024
होमख़ास खबरेंHDFC Bank ने ग्राहकों को दिया बड़ा झटका! MCLR रिवाइज करने से...

HDFC Bank ने ग्राहकों को दिया बड़ा झटका! MCLR रिवाइज करने से महंगा हुआ लोग; जानें कैसे EMI पर पड़ेगा असर?

Date:

Related stories

SBI ने ग्राहकों को दिया झटका! MCLR में वृद्धि होने से महंगा होगा लोन; जानें कैसे प्रभावित होंगे लाखों कर्जदार?

SBI: भारत के सबसे बड़े बैंकिंग उपक्रमों में से एक, भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के लाखों ग्राहकों को बड़ा झटका लगा है। ताजा जानकारी के मुताबिक एसबीआई ने अपने मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड-बेस्ड लेंडिंग रेट (MCLR) में संशोधन किया है जिसके तहत एमसीएलआर में 10 बेसिस प्वॉइंट्स (BPS) की वृद्धि दर्ज की गई है।

India WPI Inflation: थोक महंगाई से हालात बेकाबू! खाद्य वस्तुओं की कीमत बढ़ने से बिगड़ा किचन का बजट; जानें डिटेल

India WPI Inflation: भारत के विभिन्न हिस्सों में इन दिनों सब्जी की कीमत से लेकर खाद्य संबंधी अन्य सभी वस्तुओं के दाम आसमान छूते नजर आ रहे हैं। इसका प्रमुख कारम है महंगाई दर का तेजी से बढ़ना।

Punjab National Bank: PNB खाताधारक हो जाएं सावधान! ये अकाउंट हुए बंद, क्या आपके लिए भी है चिंता का विषय?

Punjab National Bank: देश के बड़े एवं प्रतिष्ठित बैंकिंग उपक्रमों में से एक पंजाब नेशनल बैंक (Punjab National Bank) की ओर से खाताधारकों के लिए बड़ी खबर सामने आई है।

HDFC Bank: अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक के रूप में अपने कार्य प्रणाली की शुरुआत करने वाले देश के सबसे बड़े प्राइवेट सेक्टर बैंक HDFC ने ग्राहकों को बड़ा झटका दिया है। जानकारी के मुताबिक HDFC Bank ने कुछ पीरियड के लोन पर मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड्स बेस्ड लेंडिंग रेट (MCLR) को रिवाइज किया है। इससे होम लोन से लेकर पर्सनल लोन और ऑटो लोन समेत सभी तरह के फ्लोटिंग लोन की EMI प्रभावित होगी और ग्राहकों की देनदारी बढ़ जाएगी। दावा किया जा रहा है कि HDFC बैंक के इस कदम से करोड़ों कर्मचारी प्रभावित होंगे और इसका असर उनकी जेब पर पड़ेगा।

HDFC Bank ने ग्राहकों को दिया झटका

HDFC बैंक ने अपने वित्तिय कार्य प्रणाली के तहत कुछ पीरियड के लोन पर मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड्स बेस्ड लेंडिंग रेट (MCLR) को रिवाइज किया है। आर्थिक मामलों के विशेषज्ञों की मानें तो HDFC के इस कदम से होम लोन, पर्सनल लोन, ऑटो लोन समेत सभी तरह के बैंक लोन की EMI प्रभावित होगी और ग्राहकों की देनदारी बढ़ जाएगी। इसके अलावा बैंक (Bank) से नया लोन लेने वाले ग्राहकों को भी महंगा लोन उठाना पड़ेगा।

HDFC के इस फैसले के तहत MCLR रेट अब 9.05% से लेकर 9.40% के बीच होगी जो कि 8 जुलाई यानी आज से लागू की जाएगी।

कितनी होगी MCLR रेट?

HDFC बैंक की ओर से कुछ पीरियड के लोन पर मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड्स बेस्ड लेंडिंग रेट (MCLR) को रिवाइज किया गया है। इसके तहत मासिक से लेकर वार्षिक तक की दरें बढ़ जाएंगी। ऐसे में आइए हम आपको नए रिवाइज MCLR रेट के बारे में बताते हैं।

समयावधिMCLR रेट
ओवरनाइट9.05%
1 महीना9.10%
3 महीना9.20%
6 महीना9.35%
1 वर्ष9.40%
2 वर्ष9.40%
3 वर्ष9.40%

क्या है MCLR रेट?

बैंकिंग टर्म के अनुसार MCLR को मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड्स बेस्ड लेंडिंग रेट के नाम से जाना जाता है। बैंकों के लिए MCLR रेट तय करते समय डिपॉजिट रेट, रेपो रेट, ऑपरेशनल कॉस्ट और कैश रिजर्व रेशियो को बनाए रखने की कॉस्ट को ध्यान में रखा जाता है। इसका उपयोग बैंक होम लोन सहित विभिन्न ऋणों पर ब्याज दर की गणना करने के लिए किया जाता है।

Gaurav Dixit
Gaurav Dixithttp://www.dnpindiahindi.in
गौरव दीक्षित पत्रकारिता जगत के उभरते हुए चेहरा हैं। उन्होनें चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय से अपनी पत्रकारिता की डिग्री प्राप्त की है। गौरव राजनीति, ऑटो और टेक संबंघी विषयों पर लिखने में रुची रखते हैं। गौरव पिछले दो वर्षों के दौरान कई प्रतिष्ठीत संस्थानों में कार्य कर चुके हैं और वर्तमान में DNP के साथ कार्यरत हैं।

Latest stories