शुक्रवार, जून 14, 2024
होमबिज़नेसIncome Tax News: सेल्फ फाइलिंग या प्रोफेशनल फाइलिंग, आपके लिए क्या है...

Income Tax News: सेल्फ फाइलिंग या प्रोफेशनल फाइलिंग, आपके लिए क्या है बेहतर ? यहां जानें पूरा स्टेप वाय स्टेप प्रोसेस

Date:

Related stories

Lok Sabha Election 2024 के दौरान आयकर विभाग की बड़ी कार्रवाई, हजारों करोड़ के आभूषण व नकदी जब्त; देखें पूरी रिपोर्ट

Lok Sabha Election 2024: देश के विभिन्न हिस्सों में लोक सभा चुनाव के तहत होने वाले अंतिम चरण के मतदान को लेकर तैयारी जारी है। इसी तैयारी के मध्य ही आयकर विभाग द्वारा लोकसभा चुनावों के दौरान जब्त किए गए नकदी और सोने-चांदी के आभूषण के आंकड़े जारी हुए हैं।

Income Tax News: आईटीआर दाखिल करने की प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है। कई करदाताओं ने तो आईटीआर दाखिल भी कर दिया है। मालूम हो कि आईटीआर दाखिल करने की अंतिम तारीख 31 जुलाई 2024 है। करदाताओं के पास अब महज दो महीने का ही समय बच गया है। कई कंपनियों ने तो अपने कर्मचारियों को फॉर्म-16 भी देना शुरू कर दिया है जो आईटाआर दाखिल करते समय एक महत्तवपूर्ण भूमिका निभाता है।

अधिकांश लोगों के लिए आयकर रिटर्न दाखिल करना बहुत जटिल नहीं है। लेकिन जटिल वित्त और आय के विभिन्न स्रोतों वाले करदाताओं को CA की आवश्यकता पड़ती है। अगर आपके पास फॉर्म-16 है तो आप आसानी से आईटीआर दाखिल कर सकते है चलिए आपको बताते है पूरा प्रोसेस।

कैसे दाखिल करे अपना आईटीआर?

●इनकम टैक्स ई-फाइलिंग वेबसाइट https://www.incometax.gov.in/iec/foportal/ खोलें और अपना पैन नंबर और पासवर्ड डालकर लॉगइन करें।

●इसके बाद आपको फाइल इनकम टैक्स रिटर्न पर क्लिक करना होगा।

●अगर आप वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए आईटीआर दाखिल कर रहे हैं तो आपको आकलन वर्ष (AY) 2024-25 का चयन करना होगा।

●इसके बाद आपको बताना होगा कि आप कौन है जैसे इंडिविजुअल, एचयूएफ और अन्य विकल्प उपलब्ध होंगे। आप अपने आईटीआर के लिए व्यक्तिगत का विकल्प चुन सकते है।

●भारत में 7 प्रकार के आईटीआर है आईटीआर के फॉर्म 1 से 4 व्यक्तिगत और एचयूएफ के लिए हैं।

●अगले चरण में आपको आईटीआर का प्रकार और कारण चुनना होगा।

●अंत में आपको अपनी सारी जानकारी जैसे पैन, आधार, नाम , समेत सभी अन्य जानकारी दर्ज करना होगा।

इन दस्तावेजों की पड़ेगी जरूरत

अगर आप भी आईटीआर दाखिल करने जा रहे है तो आपको इन दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी।

●पैन और आधार कार्ड।

●बैंक स्टेटमेंट।

●फॉर्म – 16।

●डोनेशन पर्ची।

●निवेश, बीमा पॉलिसी भुगतान रसीदें और गृह ऋण भुगतान प्रमाणपत्र या रसीद।

●ब्याज प्रमाण पत्र।

आईटीआर भरते समय इन लोगों को पड़ेगी पेशेवर की जरूरत

कई आय धाराओं वाले करदाताओं को पेशेवर मार्गदर्शन की आवश्यकता महसूस हो सकती है। एक पेशेवर यह सुनिश्चित कर सकता है कि आप बिना गलती के टैक्स रिटर्न दाखिल करें। और आईटीआर भरने के बाद आपको किसी तरह की परेशानी का सामना ना करना पड़े।

Latest stories