ezgif.com gif maker 2023 12 04T185954.852

Third-Party Car Insurance: थर्ड-पार्टी बीमा मुख्य रूप से शारीरिक चोट के नुकसान, वाहन में यात्रा करने वाले लोगों के लिए घातक मामलों और किसी भी वाहन को हुए नुकसान के साथ-साथ उक्त वाहन के यात्रियों की शारीरिक चोट या मृत्यु को संबोधित करता है। कोई भी संपत्ति जो आपकी कार की वजह से क्षतिग्रस्त हो सकती है, या किसी पैदल यात्री की चोट या मृत्यु हो सकती है। यह सीधे तौर पर आपके वाहन को हुए नुकसान को कवर नहीं करता है।

नॉक-फॉर-नॉक पॉलिसी का होता है पालन

जहां आप सामने वाले वाहन को टक्कर मारते हैं, आपकी टीपी पॉलिसी अदालती कार्यवाही के माध्यम से बीमाकृत वाहन की तरफ से स्थापित दोष साक्ष्य के अधीन उस वाहन को हुए नुकसान को कवर करेगी।

जानकारी के लिए बता दें कि आमतौर पर प्रभावित वाहन के पास स्वयं की ओडी कवरेज अगर है, तो उनकी बीमा कंपनी नॉक-फॉर-नॉक पॉलिसी का पालन करते हुए उनके नुकसान को कवर करेगी। जो किसी दुर्घटना में अपने पॉलिसीधारकों की लागत को संभालने के लिए बीमाकर्ताओं के बीच एक आपसी समझौता है।

जीरो-डिप पॉलिसी लेने की होती है कोशिश

आपके वाहन की क्षति ओडी कवरेज के अंदर आएगी, जो दुर्घटनाओं, आग, चोरी, प्राकृतिक आपदाओं और लापरवाही के खिलाफ वित्तीय सुरक्षा देती है। लेकिन, आपके पास ओडी कवर नहीं है और केवल टीपी कवर है।

इसलिए आपके वाहन की क्षति की लागत को प्रभावित करने वाले वाहन की तृतीय-पक्ष पॉलिसी की तरफ से कवर किया जा सकता है। यदि पुलिस जांच के अनुसार प्रभावित करने वाले वाहन में गलती स्पष्ट है। तो नुकसान की कीमत अदालत की तरफ से तय की जाएगी।
यदि आपके साथ कोई दुर्घटना होती है, तो आप तुरंत अपने बीमाकर्ता से संपर्क करें और उनके प्रोटोकॉल का पालन करते हुए आगे का काम करें। समग्र वित्तीय सुरक्षा के लिए ऐड-ऑन के साथ एक व्यापक बीमा पॉलिसी चुनने की काफी ज्यादा जरूरत होती है। जीरो-डिप पॉलिसी लेने की भी काफी ज्यादा कोशिश की जाती है।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।